छत्तीसगढ़रायपुर जिला

CG : टिकरापारा चोरी का खुलासा, नाबालिग लड़कों ने दिया था वारदात को अंजाम

रायपुर। टिकरापारा चोरी मामले में नाबालिग लड़कों को गिरफ्तार किया गया है. सुरेश कुमार साहू ने  रिपोर्ट दर्ज कराया था कि वह धरम नगर रायपुर में रहता है। अपने परिवार के साथ ग्राम बुडेनी खरोरा गया था, कि 03.12.2023 को सुबह कीबन 08.00 बजे प्रार्थी के पडोसी ने प्रार्थी को फोन कर बताया कि उसके घर में चोरी हो गई है। जिस पर प्रार्थी अपने घर आकर देखा तो घर के ऊपर के कमरे के खिडकी में लगा हुआ कूलर कमरे के अंदर रखा हुआ था। कमरे का ताला खोलकर अंदर जाकर देखा तो कमरे के अंदर में रखा आलमारी का ताला टुटा हुआ था एवं उसके अंदर का लॉकर भी खुला था तथा आलमारी में रखा सोने, चांदी के जेवरात एवं नगदी रकम नहीं था। कोई अज्ञात चोर प्रार्थी के घर के उपर कमरे के खिड़की में लगे कूलर को हटाकर खिड़की के रास्ते घर के कमरे के अंदर प्रवेश कर आलमारी का ताला तोड़कर आलमारी में रखें सोने चांदी के जेवरात व नगदी रकम को चोरी कर ले गया। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना टिकरापारा में अपराध क्रमंाक 650/23 धारा 457, 380 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना टिकरापारा पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण कर घटना के संबंध में प्रार्थी तथा उसके आस-पास के लोगों से विस्तृत पूछताछ करते हुए अज्ञात आरोपियों की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना स्थल तथा उसके आस-पास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का अवलोकन करने के साथ-साथ अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु मुखबीर लगाने के साथ ही तरीका वारदात के आधार पर चोरी के प्रकरणों में हाल ही में जेल/बाल सम्प्रेक्षण गृह से रिहा हुए अपराधियों के संबंध में भी जानकारी एकत्र कर अज्ञात अरोपी को चिन्हांकित करने के प्रयास किये जा रहे थे। इसी दौरान टीम के सदस्यों को जानकारी प्राप्त हुई कि विधि के साथ संघर्षरत बालक जो पूर्व में भी थाना टिकरापारा एवं पुरानी बस्ती से चोरी सहित हत्या के प्रयास जैसे गंभीर प्रकरणों में बाल सम्प्रेक्षण गृह, माना में निरूद्ध रह चुका है, को 01 अन्य लड़के के साथ घटना स्थल के आस-पास देर रात्रि संदिग्ध अवस्था में देखा गया था। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा घटना में संलिप्त विधि के साथ संघर्षरत बालक की पतासाजी कर उसे पकड़ा गया। प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर घटना के संबंध में कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा अपने 01 अन्य साथी जो विधि के साथ संघर्षरत बालक है, के साथ मिलकर चोरी की उक्त घटना को अंजाम देना स्वीकार किया गया। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा प्रकरण में संलिप्त अन्य बालक की भी पतासाजी कर पकड़ा गया।

दोनों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी की सोने चांदी के जेवरात जुमला कीमती लगभग 5,00,000/- रूपये जप्त कर उनके विरूद्ध कार्यवाही किया गया।

गिरफ्तार – विधि के साथ संघर्षरत 02 बालक।

youtube

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button