इस राज्य में बढ़ा पेट्रोल-डीजल पर उपकर, सरकार को 500 करोड़ की होगी अतिरिक्त आय

आंध्र प्रदेश सरकार ने राज्य में पेट्रोल और डीजल पर एक रुपये प्रति लीटर के हिसाब से सड़क विकास उपकर लगाया है। इस संबंध में शुक्रवार को एक अध्यादेश लाया गया। राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन ने आंध्र प्रदेश मूल्य वर्धित कर अधिनियम-2005 में संशोधन का सुझाव दिया। 

तीन सितंबर को दी गई थी मंजूरी 
आंध्र प्रदेश मत्रिमंडल ने तीन सितंबर को हुई अपनी बैठक में सड़क विकास उपकर लगाने के फैसले को मंजूरी दी गई थी। राज्य के विशेष मुख्य सचिव (राजस्व) रजत भार्गव ने कहा कि राज्य में सड़क विकास के लिए प्रतिबद्धित कोष आवंटन के लिए सड़क विकास उपकर लगाने का निर्णय किया गया। 
500 करोड़ की होगी अतिरिक्त आय 
इस अतिरिक्त शुल्क से राज्य सरकार को सालाना करीब 500 करोड़ रुपये की आय होगी। उन्होंने कहा कि उपकर से मिलने वाली राशि को आंध्र प्रदेश सड़क विकास निगम को सड़क परियोजनाओं के विकास में इस्तेमाल के लिए हस्तांतरित किया जाएगा। राज्य की वाई एस जगन मोहन रेड्डी सरकार ने दो महीने में दूसरी बार वाहन ईंधन पर कर बढ़ाया है।

राजस्व में आई कमी
अप्रैल 2019 में सरकार का राजस्व 4,480 करोड़ रुपये था। लेकिन कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते यह 1,323 करोड़ रुपये रह गया है। मई, जून, जुलाई और अगस्त में भी राज्य में गंभीर वित्तीय संकट जारी रहा।

पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। पेट्रोल-डीजल की कीमत आप एसएमएस के जरिए जान सकते हैं। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, आपको RSP और अपने शहर का कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। हर शहर का कोड अलग-अलग है, जो आपको आईओसीएल की वेबसाइट से मिल जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button