कोरबा जिलाछत्तीसगढ़

CG : शादी घर पड़ी डायल 112 की रेड, जानिए फिर क्या हुआ

कोरबा। बागों थाना क्षेत्र अंतर्गत मोरगा चौकी के ग्राम गिधमुडी में हो रहे बाल विवाह की सूचना मंगलवार शाम 4 बजे डायल 112 की टीम पहुंची. जहां 15 वर्षीय नाबालिक लड़की का विवाह गांव के ही एक 19 वर्षीय युवक के साथ हो रहा था. जिसे तत्काल रुकवाया गया. साथ ही पूरे मामले की जानकारी डायल 112 की टीम ने चाइल्ड लाइन और महिला बाल विकास विभाग को दी. टीम ने ग्राम के सरपंच,जनपद और वरिष्ठ गणमान्य जनों के सहयोग से विवाह में शामिल दोनों पक्षों के परिजनों को समझाइश देते कहा गया कि लड़का-लड़की दोनों की उम्र कानूनन शादी के लायक नहीं है. विवाह के लिए युवती की उम्र 18 वर्ष वही पुरुष की उम्र 21 वर्ष निर्धारित है. जब तक दोनों बालिग नहीं होते शादी अपराध की श्रेणी में आता है. दोनों के बालिक होने के पश्चात विवाह कराया जाए.

परिजनों ने बातों को समझते हुए विवाह को रोक दिया और विवाह में लगे मंडप को भी हटा दिया गया. निश्चित रूप से बाल विवाह समाज की जड़ों तक फैली बुराई, लैंगिक असमानता और भेदभाव का ज्वलंत उदहारण है. यह आर्थिक और सामाजिक ताकतों की परस्पर क्रिया-प्रतिक्रिया का परिणाम है. जिन समुदायों में बाल विवाह की प्रथा प्रचलित है. वहां छोटी उम्र में लड़की की शादी करना उन समुदायों की सामाजिक प्रथा और दृष्टिकोण का हिस्सा है और यह लड़कियों के मानवीय अधिकारों की निम्न दशा दर्शाता है. ऐसे स्थिति से सभी को बचना चाहिए और दूसरों को बचाना भी चाहिए.

advertisement
advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button