संस्कारधानी

खेल से मिलती है जीवन की सीख


0 करमतरा के प्राचार्य राजेश शर्मा ने कहा
0 कबड्डी में बालिकाओं ने दिखाया जौहर
0 पारंपरिक फुगड़ी में जमकर उड़ी धूल
0 दौड़ के साथ बच्चों ने लगाई लंबी छलांग


राजनांदगांव। विविध शालेय खेलकूद स्पर्धा के दौरान शासकीय किसान उच्चतर माध्यमिक शाला के प्राचार्य राजेश शर्मा ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि खेल हमारे जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। खेल हमारे दिमाग व शरीर को स्वस्थ और सक्रिय रखने में मदद करता है।
उन्होंने कहा कि खेल गतिविधियों में भाग लेने से बच्चों की स्कूली उपलब्धियों में बढ़ोत्तरी होती है। बच्चों के जीवन में खेल बड़ी उपलब्धियों को प्राप्त करने का रास्ता है लेकिन, ये उनकी गतिशीलता और अनुभव पर अधिक निर्भर करता है। खेल से हम सीख सकते है कि हमें अपने जीवन में आने वाली चुनौतियों से कैसे लड़ना चाहिए।
यहां बता दें कि शालेय खेलकूद स्पर्धाओं के तहत करमतरा स्कूल में दर्जनों छात्राओं ने छत्तीसगढ़ की पारंपरिक खेल फुगड़ी में जमकर धूल उड़ाई। इसमें कु. दोनेश्वरी प्रथम व गोमती ने द्वितीय स्थान बनाया। ढालेश्वर, जयप्रकाश, टाकेश्वर, रोशन, कु. कोमेश्वरी व कविता ने सबसे लंबी छलांग लगाई।सौ मी. दौड़ में खिलेश कुमार, टाकेश्वर, देवानंद, कमल किशोर. कु. ग्रेसी, कु. ईश्वरी, योगमाया व देव कुमारी ने तो दो सौ मीटर दौड़ में पुणेश्वर, खिलेश, जयप्रकाश, टाकेश्वर, कोमेश्वरी, ईश्वरी, योगमाया व दोनेश्वरी ने अपना जौहर दिखाया। इसी तरह क्रिकेट में कक्षा 12 वीं विजेता तो 10 वीं के छात्र उपविजेता घोषित हुए। बालक कबड्डी में 11 वीं प्रथम व 10 वीं द्वितीय स्थान पर रही। बालिका कबड्डी में 11 वीं व 10 वीं की क्षात्राओं ने रोचक खेल का प्रदर्शन कर अपना उत्कृष्ट स्थान बनाया।
सम्पूर्ण खेल आयोजन में संस्था के संगीता तिवारी,अर्चना साहू, कमलेश्वरी चंदेल, युगेश्वरी साहू, नीलम सिंह, कुमार राम साहू, किसन सिंग सोरी, राकेश साहू, राम प्रसाद देवांगन, मनीष शर्मा, योगेंद्र सिंह ठाकुर, तीर्थ कुमार सूर्यवाणी, चंद्रशेखर साहू, राहुल रावटे की सक्रिय भूमिका रही।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close