क्राइमदेशहरियाणा

वर्षो पुरानी दुश्मनी ने ले ली बहन के पति की जान, कुल्हाडी से काटकर अपने ही बहनोई को मार डाला

महराजगंज। पनियरा थाना क्षेत्र के इलाहाबास गांव में बहन के पति को भाई ने बेरहमी में कुल्हाडी से काटकर मार डाला। इसके बाद सीधे थाने पहुंचा तो पुलिस सन्न रह गई। घटना से क्षेत्र में तनाव का माहौल है। गांव में पुलिस के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचकर शांति व्यवस्था बनाने में जुट गए। इस मामले को लेकर गांव में चर्चाओं का बाजार गर्म है। इलाहाबास के खास गांव के रहने वाले बृजेश 28 की हत्या उनके साले ने कर दी। वह शादी से नाराज था। कई साल से वह मौके की तलाश में था।

सही अवसर मिलने पर बुधवार दोपहर के बाद उसने बृजेश को उसके घर के पास बुलाया। फिर बेरहमी से कुल्हाडी से काटकर मार डाला। इसके बाद वह कुल्हाड़ी लिए खून से सना हाथ लेकर सीधे पनियरा थाने पहुंचा तो पुलिस सन्न रह गई। उसके पुलिस को पूरी कहानी बताई तो उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे।

सही अवसर मिलने पर बुधवार दोपहर के बाद उसने बृजेश को उसके घर के पास बुलाया। फिर बेरहमी से कुल्हाडी से काटकर मार डाला। इसके बाद वह कुल्हाड़ी लिए खून से सना हाथ लेकर सीधे पनियरा थाने पहुंचा तो पुलिस सन्न रह गई। उसके पुलिस को पूरी कहानी बताई तो उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे।

पहले तो उसने दोनों को समझाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी तो उसने रास्ते से हटाने की ठान ली। इसके बाद वक्त बीतता गया। वह मौके की तलाश में जुटा रहा। इधर बृजेश को एक बेटा एवं एक बेटी भी हो गई। वह पत्नी बच्चों के साथ खुश था। घर का इकलौता होने के कारण मां बाप भी बेटे की खुशी में अपनी खुशी समझकर हंसी खुशी जीवन यापन करने लगे।

इधर मौके की तलाश कर युवक बृजेश को मौत की नींद सुलाने की योजना बनाने लगा। बुधवार को उसे सही मौका मिला। घर के पास आम के पेड़ के पास बृजेश को बुलाया। कुछ देर बात की। इसके बाद साथ लाए कुल्हाड़ी को निकालकर ताबड़तोड़ कई बार प्रहार कर मार डाला।

मौके पर एएसपी, सीओ सदर, थानाध्यक्ष पनियरा समेत बड़ी संख्या में पुलिस पहुंची। एएसपी आशुतोष शुक्ल ने बताया कि आरोपी हिरासत में है। उससे पूछताछ की जा रही है। गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस सतर्क है। कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close