Uncategorized

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नगरीय निकायों के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को लिखी पाती

0 निर्वाचित महापौर, अध्यक्षों और पार्षदों को दी जीत की बधाई और शुभकामनाएं
0 जनादेश के सम्मान के साथ वार्ड और नगर के विकास की दिशा में नये सोपान गढऩे की अपील की
0 कार्यभार ग्रहण करने के पहले दिन से ही कृत-संकल्पित होकर जनता की समस्याओं के निराकरण की अपेक्षा की

0 नगर के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा हरसंभव सहयोग
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी नगरीय निकायों के नवनिर्वाचित महापौरों, अध्यक्षों और पार्षदों को पत्र लिखकर उन्हें जीत की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है कि प्रिय साथी अब हम सबकी महती जिम्मेदारी है कि जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए पूर्ण समर्पण के साथ नागरिकों की अपेक्षाओं को पूरा करने में कोई कोर-कसर न छोड़े। उन्होंने नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे कार्यभार संभालने के पहले दिन से ही कृत-संकल्पित होकर और संवेदनशीलता के साथ जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए सतत् प्रयत्नशील हो।
बघेल ने कहा कि नगरीय निकाय लोकतंत्र के त्रिस्तरीय शासन व्यवस्था का एक महत्वपूर्ण अंग है। मेरी अपेक्षा है कि लोकतंत्र के मूल मंत्र ‘जनता का शासन-जनता के द्वारा-जनता के लिए’ की अवधारणा को चरितार्थ करते हुए जन भावनाओं के अनुरूप, वार्ड और नगर में सुशासन स्थापित करने की दिशा में अपने राजनीतिक जीवन के अनुभवों का उपयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि वरिष्ठजनों, बुद्धिजीवियों तथा सभी वर्गों के नागरिकों से रायशुमारी कर वार्ड और नगर के विकास की योजनाएं तैयार की जाएं। निकाय के अमले भी पारदर्शिता के साथ नागरिकों की अपेक्षा के अनुरूप जन कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि निकाय क्षेत्रों में निवास करने वाले नागरिकों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना गढ्ढे मुक्त सडकें, नगर को सफ-सुथरा प्रदूषण मुक्त रखना, प्रदूषित जल निकासी हेतु पक्की नालियों का निर्माण, उन्नत मार्ग प्रकाश व्यवस्था तथा जलाशयों को स्वच्छ रखना एवं रेन वाटर हार्वेस्ंिटग राज्य शासन की प्राथमिकता का विषय है। साथ ही राज्य शासन की यह मंशा है कि पूर्ण पारदर्शिता के साथ स्थानीय जनता की दैनंदिन समस्याओं का निराकरण निर्धारित समय-सीमा में किया जाए।
बघेल ने कहा कि राज्य शासन द्वारा नगरीय क्षेत्रों में शहर को झुग्गी मुक्त करने के लिए ‘मोर जमीन-मोर मकान’ स्थानीय संस्कृति को प्रोत्साहन देने पौनी-पसारी तथा गौवंश के सरंक्षण के लिए गौठान का विकास एवं वार्ड में ही समस्याओं के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री वार्ड कार्यालय इत्यादि महत्वपूर्ण योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। योजनाओं की निरंतर मानीटरिंग किया जाना आवश्यक है।
बघेल ने कहा कि नगरीय निकायों के विकास हेतु राज्य शासन द्वारा हर संभव सहयोग प्रदान किया जा रहा है। मैं आशा करता हूं कि, आपके नेतृत्व में, आपका वार्ड और निकाय, सभी वर्गो के नागरिकों की दैनंदिन समस्याओं के निदान एवं नगर के चहुंमुखी विकास की दिशा में प्रगति के नये सोपान तय करेगा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close