क्राइमदेशराजस्थान

प्रेमी – प्रेमिका संग भागा, हर्जाना भरना पड़ा परिवार को, गर्भवती महिला को भी नहीं छोड़ा

जयपुर- प्यार करने की सजा प्यार करने वालों के साथ ही उनके परिवारों को भी भुगतनी पड़ती है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान में सामने आया है जहां एक युवक के प्यार की कीमत उसके घर वालों ने चुकाई। उसमें भी एक महिला ने तो इतनी बड़ी कीमत चुकाई कि उसका होने वाला बच्चा ही इस दुनिया में नहीं रहा। मामला राजस्थान के झालावाड़ का है जहां एक युवक पर युवती को भगाने का आरोप लगा और सजा मिली उसकी गर्भवती रिश्तेदार को। लोगों ने इस महिला और आरोपी युवक के मामा को कुए में जिंदा लटका दिया गया। आरोपियों ने यह भी नहीं देखा कि जिस महिला के साथ वो यह अत्याचार कर रहे हैं वो गर्भवती है।

झालावाड़ जिले का है जहां एक युवती को घर से भगाने के शक में उसकी ही रिश्तेदार गर्भवती महिला और उसके मामा को सूखे कुएं में लटकाने और फिर हाथों पर अंगारे रखकर यातना देने का मामला सामने आया है। इस यातना से महिला का गर्भपात हो गया। बीच बचाव के लिए गर्भवती की मां के साथ भी लोगों ने मारपीट की है। इस संबंध में पुलिस में जिले के मूजकापुरा गांव के कुछ दबंगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। बकौल पुलिस पीड़ित महिला मांगू बाई ने बताया कि उसका मायका झालावाड़ जिले के मूजकापुरा गांव में है और उसकी शादी मध्य प्रदेश में राजगढ़ जिले के बोरकापानी गांव में हुई है।

दोनों की दूरी करीब 30 किलोमीटर है। मांगू बाई ने बताया कि वह कुछ दिनों पूर्व अपने मायके आई थी। यहां से उसकी चचेरी बहन उसके साथ मध्य प्रदेश में एक जगह हो रही भागवत कथा सुनने उसके साथ गई। वहां से चचेरी बहन अचानक गायब हो गई । महिला अपने ससुराल चली गई । इस पर रिश्तेदारों ने गांव के दबंगों का सहारा लेते हुए उस पर अपने मामा की मिलीभगत से चचेरी बहन को भगाने का आरोप लगाया।

शनिवार शाम को रिश्तेदार गांव के दबंगों के साथ ससुराल पहुंचकर उसे जबरन मायके उठा लाए । उसके साथ मामा को भी लेकर आए । यहां लाकर गांव के सूखे कुएं में लटका कर मारपीट की गई। इस दौरान उसका गर्भपात भी हो गया। मामा केवल के हाथ में जलते हुए कोयले के अंगारे रखकर यातना दी गई । बीच-बचाव करने आई मांगू बाई की मां धापू बाई को भी बंधक बनाकर मारपीट की गई। इस बारे में सूचना मिलने पर झालावाड़ जिले की भालता थाने की पुलिस टीम मौके पर पहुंची और तीनों को मुक्त कराया।

पुलिस को देखकर आरोपित फरार हो गए। तीनों का मध्य प्रदेश में राजगढ़ के खीलचीपुर अस्पताल में इलाज चल रहा था। बाद में उन्हें राजगढ़ के अस्पताल में भेज दिया गया। अस्पताल कर्मियों के अनुसार, तीनों के पर्चे तो वहां हैं, लेकिन वे कहीं चले गए हैं। पीड़िता मांगू बाई की रिपोर्ट पर खिलचीपुर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close