छत्तीसगढ़राजनांदगांव जिला

राजनांदगांव- किसान, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और कमजोर वर्ग के लोगों को न्याय दिलाना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता: मुख्यमंत्री

लोकवाणी को ग्राम टेड़ेसरा में ग्रामवासियों ने तन्मयता से सुना
दो सालों में 887 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना,
15 हजार करोड़ रूपए का पूंजी निवेश

    राजनांदगांव – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की रेडियो वार्ता लोकवाणी की 13 वीं कड़ी छŸाीसगढ़ सरकार दो वर्ष का कार्यकाल विषय पर आज राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम टेड़ेसरा में ग्रामवासियों ने तन्मयता पूर्वक सुना। मुख्यमंत्री ने रेडियो वार्ता में कहा कि आम जनता, किसानों, आदिवासियों और कमजोर तबकों का सशक्तिकरण छŸाीसगढ़ के विकास मॉडल की प्रमुख विशेषता है। राज्य सरकार ने किसानों के लिए कर्जमाफी, धान खरीदी, सुराजी गांव, राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना जैसी अनेक योजनाएं लागू की, जिनसे गांवों को निरंतर शक्ति मिल रही है। औद्योगिक इकाईयों में भी 1500 करोड़ रूपए का पूंजी निवेश हुआ। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिला। विगत दो सालों में 887 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना, 15 हजार करोड़ रूपए का पूंजी निवेश और 15 हजार 400 लोगों को इन उद्योगों में रोजगार मिलना उत्साहजनक है।

मनरेगा में 25 लाख से अधिक लोगों को हर रोज काम देने का उदाहरण है, बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत से घटाकर 2 प्रतिशत तक लाने का उदाहरण भी है। उन्होंने कहा हमारी नई औद्योगिक नीति से आदिवासी अंचलों में भी तेजी से उद्योग लगे और क्षेत्रीय विकास का मार्ग प्रशस्त हो, वहीं रोजगार के नए-नए अवसर बने। उन्होंने कहा कि किसानों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और कमजोर वर्ग के लोगों को न्याय दिलाना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। गोधन न्याय योजना के अंतर्गत हर माह औसतन लगभग 15 करोड़ रूपए की सरकारी खरीद हो रही है, जिसके कारण 4 माह में लगभग 60 करोड़ रूपए पशुपालकों को प्राप्त हुए हैं। यूनिवर्सल हेल्थ केयर के अंतर्गत दो वर्ष के भीतर बीमा कंपनियों की जगह राज्य की पहल और अनुशासन से देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजनाएं डॉ. खूबचंद बघेल योजना तथा मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना संचालित करके, एक बड़ा सपना साकार किया है। जिसमें पात्रता अनुसार 50 हजार से 20 लाख रूपए तक का इलाज मरीजों को निःशुल्क मुहैया कराया जा रहा है।

    उपसरपंच देवलाल साहू ने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी योजना अंतर्गत गौठान बनाया गया हैं। इस गौठान में 29 वर्मी टैंक का निर्माण किया गया है। जिस का सफलतापूर्वक क्रियान्वयन किया जा रहा है। महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से गोबर की खरीदी और वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण किया जा रहा है। जिससे उनकी आर्थिक आमदनी में वृद्धि हो रही है। गौठान में अभी तक 1481 क्विंटल गोबर की खरीदी की जा चुकी है। वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण भी लगातार किया जा रहा है। शासन की इन योजनाओं से गांव के लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया। गौठान के सभापति भीखमदास साहू ने बताया कि धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए मिलने से किसान अपनी आवश्यकताएं पूरी करने में सक्षम हो रहे हैं। शासन की लोकहितैषी योजनाओं से ग्रामीण अंचलों के प्रत्येक व्यक्ति लाभान्वित हो रहे हैं। रेखाराम यदु ने बताया कि शासन द्वारा बिजली बिल आधा करने से आर्थिक मदद मिली है। किसानों के कर्ज माफ  होने से ऋण का बोझ समाप्त हुआ है। जिससे खेती-किसानी में उत्साह बढ़ा है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं शासन का आभार व्यक्त किया है। इस अवसर पर दिलीप साहू, हीरालाल साहू, कौशल यादव, रंजीत प्रधान, मेवकुमार साहू, केवल साहू, श्रीमती बसंती साहू, श्रीमती चुन्नी साहू, श्रीमती दामिनी साहू, लीखन साहू, राजेन्द्र देशमुख, नारायण देशमुख, दिनेश साहू, भीखम साहू, गंगादास मानिकपुरी, मेषकुमार साहू, रूपलाल देशमुख, खिलावन साहू, भुवन देशमुख ने भी लोकवाणी सुनी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button