अंटार्कटिका के नीचे मिले अनोखे जीव, वैज्ञानिकों को नहीं इनकी जानकारी

अंटार्कटिका से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां हिमखंडों के नीचे अनोखे जीव मिले है। इन विचित्र प्रतार के जीवों की खोज करीब एक किलोमीटर की गहराई में हुई है। इन्हें खोजने के लिए वैज्ञानिकों ने अंटार्कटिका में 900 मीटर की ड्रिलिंग की। जब उन्होंने छेद में कैमरा डाला तो अंदर का नजारा देख चौंक गए। पता चला कि ये जीव बिल्कुल अंधेरे में और माइनस डिग्री में रहते हैं। इन जीवों की खोज की रिपोर्ट फ्रंटियर्स इन मरीन साइंस नामक जर्नल में प्रकाशित हुई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि अंटार्कटिका के दक्षिण-पूर्वी वेड्डेल सागर में फिलच्नर-रॉने आइस सेल्फ के नीचे जीव मिले हैं। ये खुले समुद्र से 260 किमी दूर है। इससे पहले इस तरह के जीवों की खोज नहीं हुई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये जीव बर्फीले पत्थरों से चिपके रहते है। ये किस तरह के जीव से इसका अभी पता नहीं चल पाया है। वैज्ञानिकों का भी कहना है कि यह ऐसे जीव जिसके बारे में दुनिया को नहीं पता। नए खोजे गए जीव फिलच्नर-रॉने आइस सेल्फ में पाए गए हैं। यहां का तापमान माइनस 2.2 डिग्री सेल्सियस है। इस तरह की परिस्थि में रहने वाले जीव इसे पहले कभी खोजे नहीं गए। इन जीवों को खोजने वाले प्रमुख रिसर्चस डॉ. हव ग्रिफिथ ने बताया कि ऐसे जीव कभी नहीं देखे गए। यह बदलती दुनिया में खुद को बदल चुके हैं। उन्होंने कहा कि हमारे मन में कई तरह के सवाल है। आखिर ये जीव खाते क्या है? ये यहां तक आए कैसे? ये जीव कितने समय से हैं? क्या ये कोई नई प्रजाति के जीव हैं? डॉ. हव ने कहा कि दक्षिणी सागर में तैरने वाले समुद्री हिमखंडों के नीचे काफी खोज बाकी है। अब तक मनुष्यों ने सिर्फ टेनिक कोर्ट के क्षेत्रफल जितने इलाको में खोजबीन की है। जबकि हिमखंड अंटार्कटिका महाद्वीप का 15 लाख वर्ग किमी तक है। डॉ. ग्रिफिथ ने आगे बताया कि हमारे पास जीवों को सही सलामत ऊपर लाने के लिए अत्याधुनिक उपकरण हैं। इनका अध्ययन करने के बाद ही सभी सवालों के जवाब मिल पाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button