चाकू और बेहोशी की दवा लेकर मास्क पहने बदमाश घर में घुसे, महिला ने धक्का मारकर एक को गिराया, शोर सुनकर पहुंचे लोगों ने पकड़ा

रायपुर में दिन दहाड़े फ्यूल कंपनी के अफसर के घर में घुसे डकैत एक महिला की बहादुरी से पकड़े गए। हाथ में चाकू, चेहरे पर मास्क और स्कार्फ से पहने बदमाश घुसे तो महिला ने शोर मचाना शुरू कर दिया। आवाज सुनकर पहुंचे आस-पास के लोगों, ड्राइवर और अपार्टमेंट के गार्ड ने मिलकर दो बदमाशों को पकड़ लिया। उनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने गुरुवार को इनके 6 अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला खम्हारडीह थाना इलाके का है। शाम तक इस मामले में और भी खुलासे हो सकते हैं।

गायत्री नगर की रहने वाली अंजली कुमारी ने पुलिस को बताया कि बुधवार दोपहर के वक्त वह घर पर ही थी। उनके पति विकास कुमार काम से बाहर गए हुए थे। तभी देखा कि दो लोग जबरदस्ती घर में घुस रहे हैं। एक ने बड़ा बैग टांग रखा था दूसरे के हाथ में चाकू था। उन्हें चिल्लाकर रोकने का प्रयास किया पर वो जबरदस्ती करने लगे। शोर सुनकर पड़ोस के घर में काम करने वाला राजू कोसले आ गया। महिला ने एक बदमाश को धक्का दिया तो वो दूसरे से टकराया। इस दौरान उनके हाथ से चाकू गिर गया। राजू ने तब एक बदमाश को पकड़ लिया।

हंगामा होता देख बदमाशों बाकी साथी कार से भागे

वहीं भाग रहे दूसरे बदमाश को अपार्टमेंट के गार्ड समर बहादुर सिंह और ड्राइवर विनय साहू ने पकड़ लिया। हंगामा होता देख पड़ोस से भी लोग आ गए। इनके 4 साथी घर के बाहर थे हंगामा होता देख वो तब कार से भाग गए। पकड़े गए दोनों बदमाशों का बैग खोलकर देखने पर उसमें चाकू, प्लास्टिक बोरी, स्क्रू ड्राइवर, दस्ताने, प्लास्टिक टेप और बेहोश करने की दवा थी। पकड़े गए बदमाश भिलाई निवासी दिनेश कुमार वर्मा और कांकेर निवासी विक्की उर्फ विशाल वर्मा थे। दोनों को पुलिस को सौंप दिया गया।

पुराने परिचित ने ही बनाई प्लानिंग
अब तक हुई जांच में ये बात सामने आई है कि फ्यूल कंपनी के अफसर विकास का पुराना परिचित अमित निराला इस डकैती का मास्टर माइंड है। वो भी विकास के साथ काम करता था, लेकिन नौकरी जाने के बाद उसने डकैती का षड्यंत्र रचा। वो साथियों के साथ एक हफ्ते से विकास के घर की रेकी की रहा था। उसी ने कांकेर, रायपुर, भिलाई और यूपी से अपने दोस्तों को बुलाया था। उनको डकैती की रकम में हिस्सेदारी का ऑफर दिया था। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है।

कई स्टील कारोबारियों के नाम डायरी से मिले
अमित फ्यूल कंपनी के अकाउंट डिपार्टमेंट में काम करता था। सूत्रों के मुताबिक उसे रायपुर के कई बड़े स्टील कारोबारियों के लेन-देन की जानकारी यहीं से मिली। नौकरी के बाद उसने डकैती की दूसरी घटनाओं को भी अंजाम देने की तैयारी कर रखी थी। खबर है कि इनके पास से एक डायरी पुलिस को मिली है। इस डायरी में कई बड़े कारोबारियों के नाम और उनके घर से दफ्तर आने-जाने की बातों का जिक्र है। अमित अपने साथियों के साथ मिलकर उन कारोबारियों को भी लूटने का प्लान बना रहा था मगर अब पकड़ा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *