सब्जी मंडी इलाके में चार मंजिला बिल्डिंग गिरी, दो बच्चों की मौत

नई दिल्ली,13 सितंबर 2021। सब्ज़ी मंडी इलाक़े में चार मंज़िला इमारत ढहने के क़रीब पाँच घंटे बाद भी दिल्ली प्रशासन यह बता पाने में असमर्थ है कि आख़िरकार कितने आहत और कितने प्रभावित हैं। घटनास्थल पर मौजुद डीसीपी नॉर्थ एंटी अल्फोंस ने आँकड़ों को बताए बगैर बयान दिया हैबिल्डिंग गिरने की वजह से जो लोग नीचे काम कर रहे थे,वो अंदर दबे हुए हैं। दो बच्चों को अस्पताल भेजा गया जिन्हें मृत घोषित किया गया है” इसके साथ ही ज्वाइंट सीपी सेंट्रल रेंज एन एस बुंदेला ने आंकलन के लिए समय का आग्रह किया है, उन्होंने कहा
*”हमें मलबे में फँसे लोगों की संख्या का आंकलन करने के लिए समय चाहिए”* इस हादसे को लेकर आंकड़े पर पूरी तरह चुप्पी है, हालाँकि यह सभी मान रहे हैं कि हादसा बड़ा है और प्रभावितों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि नीचे दुकानें थी तो उपर के तीन माले पर लोग रहा करते थे।
जर्जर भवन को इस हादसे का कारण माना जा रहा है। हादसे के बाद उत्तरी दिल्ली निगम कमिश्नर संजय गोयल का बयान आया है जिसमें उन्होंने कहा है ”राहत और बचाव कार्य चल रहा है। जांच में तथ्य सामने आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। हमने खतरे वाले भवनों को चिन्हित किया है। जांच करके उन्हें खाली कराएंगे ताकि आगे इस तरह के हादसे से बचा जा सके”* डीसीपी नॉर्थ एंटी अल्फोंस ने इस मामले में FIR दर्ज करने और कार्यवाही की बात कही है।

बारिश की वजह से गिरी इमारतप्राथमिक जानकारी के मुताबिक, चार मंजिला यह इमारत पहल से ही जर्जर थी। इस बीच लगातार हो रही बारिश ने परेशानी और बढ़ा दी। सोमवार सुबह यह अचानक भरभराकर गिर गई।

गौरतलब है कि दिल्ली में शनिवार और रविवार को हुई बारिश के चलते सड़कों और गलियों में जलभराव की समस्या बरकरार है। लाहौरी गेट, मटिया महल, चांदनी चौक, चावड़ी बाजार और सदर बाजार की गलियों में जलभराव की समस्या सोमवार को भी देखने को मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *