अवैध रूप से जंगलों की कटाई पर भड़के जिला पंचायत सभापति नरसिंह भंडारी

।।जिला पंचायत की स्थाई समिति वन ,जल संसाधन एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की बैठक में अधिकारियों पर  जताई नाराजगी।।

बैठक में विभिन्न विषयों पर हुई चर्चा

स्थाई समिति की बैठक में जिला पंचायत सभापति नरसिंह भंडारी ने वन विभाग की लापरवाही के कारण हो रहे वनों की अवैध कटाई को लेकर जमकर फटकार लगाई, वन विभाग के माध्यम से छात्र-छात्राओं को मिलने वाले प्रोत्साहन (छात्रवृत्ति) की पूरे जिले में अच्छा प्रचार प्रसार करने का निर्देश दिए साथ ही वन तेंदूपत्ता संरक्षण पर ज्यादा बल देते हुए उन्होंने बैठक में  तेंदूपत्ता उत्पादन क्षमता को बढ़ावा देने पर बल देते हुए कहा कि मैं जब पढ़ाई कर रहा था तो तेंदूपत्ता तोड़कर उससे मिलने वाले रूपये की बदौलत अपना पूरा स्कूल फीस के साथ पढ़ाई की जरूरत का  सामान लेता था, किंतु तेंदूपत्ता के अभाव के कारण आज वनों में रहने वाले ग्रामीणों को बहुत कम पत्ता तोड़ाई करते हैं ।शासन स्तर पर इसको प्रस्ताव भेजने का निर्देश देते हुए कहा कि तेंदूपत्ता पौधा का नर्सरी तैयार होकर पूरा प्लांटेशन होना चाहिए ताकि समय में ग्रामीण जन तेंदूपत्ता अत्याधिक तोड़ कर के अपना व्यापार कर सकें, साथ ही मोहला विकासखंड के राजाडेरा में  छत्तीसगढ़ के सबसे हाई टेंपरेचर गर्मी वाला स्थान  है इसलिए  राजाडेरा के लिए प्लांटेशन तैयार करने का निर्देश दिया, वन विभाग से मृत्यु उपरांत मिलने वाली बीमा राशि का जिक्र करते हुए  पूरे जिले की सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिए साथ ही वर्ष 2017-18  में जितने भी प्रकरण पेंडिंग है उनका तत्काल निराकरण करने का निर्देश दिया। बैठक में जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित करते कहा की छोटे छोटे बांधों के संरक्षण के साथ-साथ नालियों का पक्की करण  करने का भी प्रस्ताव रखा गया। मोहला विकासखंड के रामगढ़ से भैंस बोर्ड पहाड़ बहुउद्देशीय बांध बनाने का सर्वे कराकर के प्रस्ताव शासन को भेजने का प्रस्ताव पारित किया गया ताकि क्षेत्र के किसानों को अधिक से अधिक लाभ मिल सके, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को निर्देशित किया कि जहां पानी टंकी की आवश्यकता है वहां पर पानी टंकी का निर्माण अति शीघ्र प्रारंभ करवाएं ताकि पेयजल की संकट आने वाले समय के लिए ना रहे, जल जीवन मिशन के तहत सुदूर गांवों को भी जोड़ने के लिए निर्देशित किया गया। उक्त बैठक में वन विभाग, जल संसाधन विभाग एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे । बैठक में समिति सदस्य श्रीमती राधिका अंधारे   द्वारा मानपुर क्षेत्र के दूरस्थ गांव में पेयजल व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए साथ ही वन विभाग  को निर्देशित किया कि वन विभाग के अंतर्गत वन उपज से मिलने वाली लाभ के बारे में प्रचार -प्रसार करने के निर्देश दिए व पूरे जिले में वन उपज खरीदी करने वाले समितियों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *