राजनीति

तमिलनाडु की सियासत में एक्टर विजय की मेगा एंट्री, निकाय चुनाव में फैन क्लब ने दर्ज की बड़ी जीत

चेन्नई. तमिलनाडु ग्रामीण निकाय चुनावों में सुपरस्टार विजय (Actor Vijay) के प्रशंसकों ने शानदार प्रदर्शन किया है. नतीजों को मुताबिक, विजय के फैन क्लब ऑल इंडिया थलपति विजय मक्कल इयक्कम (All India Thalapathy Vijay Makkal Iyakkam) ने 169 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से 115 सीटों पर जीत हासिल की है. यह पहला मौका था जब एक्टर क्लब के चुनाव लड़ने की बात पर राजी हुए थे. कहा जाता है कि लोकप्रियता के मामले में मेगास्टार रजनीकांत (Rajinikanth) के बाद उन्हीं का नाम आता है. विजय की इस जीत के बाद ही तमिलनाडु की राजनीति में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. राज्य में सत्तारूढ़ डीएमके ने निकाय चुनाव में बड़ी जीत दर्ज की है.

ऑल इंडिया थलपती विजय मक्कल इयक्कम के महासचिव बस्सी आनंद ने कहा कि जीती गई 115 सीटों में से 13 सीटों पर निर्विरोध जीत हुई है. इनमें कल्लाकुरिची और कांचीपुरम की 4-4 सीटें भी शामिल हैं. उन्होंने कहा, ‘115 विजेताओं में से कम से कम 45 महिलाएं हैं. एक्टर विजय के बैनर तले चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार हमारे समाज के अलग-अलग वर्ग से थे.’ आनंद पुडुचेरी से कांग्रेस के पूर्व विधायक रह चुके हैं. उन्होंने कहा कि विजेताओं में किसान, छात्र, कारोबारी और शिक्षक भी शामिल हैं.

कहा जा रहा है कि अभिनेता की जीत का दायरा भले ही छोटा लगे, लेकिन पहले ही चुनाव में जीत से खाता खोलना राजनीति में विजय की बड़ी पारी की ओर ले जा सकता है. आनंद ने जानकारी दी कि चुनावों को लेकर कोई भी योजना नहीं थी.

उन्होंने कहा, ‘अचानक चुनाव से पहले कई जिलों से चुनाव लड़ने की अनुमति के लिए मांग उठने लगी थी.’ आनंद ने बताया, ‘हमने इसे लेकर थलपति के साथ बात की और वे तैयार हो गए.’ महासचिव ने बताया कि उम्मीदवारों के चुनाव के लिए विजय ने केवल दो बातें ही कही थीं. पहला, शिक्षित युवा और दूसरा महिलाओं को बराबर का मौका. प्रशंसकों ने केवल समूह के झंडे और विजय की तस्वीर के साथ प्रचार किया. आनंद भी अन्य लोगों के साथ अलग-अलग जिलों में जाकर ज्यादा से ज्यादा उम्मीदवारों से मिलने की कोशिश कर रहे थे.

जीत के साथ हुई विजय की इस सियासी एंट्री के बाद चर्चाएं तेज हो गई हैं. उनके पिता एसए चंद्रशेखर ने बेटे के नाम पर बगैर उसकी इजाजत के विजय मक्कल इयक्कम की स्थापना करने की कोशिश की थी और इसी पार्टी के चलते पिता और बेटे के बीच विवाद खड़ा हो गया था. विजय ने बयान जारी कर खुद को VMI से अलग बताया था और अपने पिता और माता शोभा शेखर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया था. विजय ने राजनीतिक कारणों के लिए उनके नाम का इस्तेमाल नहीं करने की अपील की थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button