कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने छापामारी शुरू

लाकडाउन की अफवाह उड़ाकर कालाबाजारी और जमाखोरी की शिकायत पर प्रशासन हरकत में आ गया है। कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने दुकानों में छापेमारी शुरू कर दी गई है। ऐसी दुकानों को सील कर एफआइआर कराने कहा गया है। कलेक्टर के निर्देश पर संपूर्ण जिले में कालाबाजारी और जमाखोरी के नियंत्रण के लिए दुकानों में छापामार की कार्रवाई की जा रही है। कालाबाजारी और जमाखोरी के नियंत्रण के लिए संपूर्ण जिले में टीम गठित की गई है।

काोरोना की पहली व दूसरी लहर के दौरान लगाए गए लाकडाउन का व्यापारियों ने खूब फायदा उठाया था। जरूरी सामानों का कृत्रिम संकट खड़ा कर भाव बढ़ा दिए गए थे। जरूरत के कई सामानों को दोगुने दाम में भी बेचा गया था। जिले में तीसरी लहर की दस्तक हो गई है। व्यापारी इस बार भी लाकडाउन लगने की अफवाह उड़ाकर पहले जैसी स्थिति पैदा करने की फिराक में हैं। इसे लेकर नईदुनिया ने आठ जनवरी को विस्तृत खबर दी थी। उसके बाद से प्रशासन हरकत में आया। पहले टीम गठित कर जांच की जिम्मेदारी तय की गई। अब छापेमार कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के निर्देश पर खाद्य एवं अन्य सामग्री के कालाबाजारी और जमाखोरी के नियंत्रण के लिए संपूर्ण जिले में टीम गठित कर दुकानों में लगातार छापामार की कार्रवाई की जा रही है। खाद्य निरीक्षक अंगद ठाकुर एवं गठित टीम द्वारा गुड़ाखू लाइन स्थित दुकानों में आकस्मिक दबिश देकर जांच की कार्रवाई की गई। साथ ही उपभोक्ताओं से अधिक मूल्य के बारे में जानकारी ली गई। हालांकि स्थिति सामान्य पायी गयी।

संपूर्ण जिले में टीम गठित कलेक्टर सिन्हा ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कालाबाजारी और जमाखोरी करने वाले दुकानों पर लगातार छापामार की कार्रवाई करें। जिन दुकानों में कालाबाजारी और जमाखोरी पाई जाएगी उन दुकानों को सील कर एफआइआर की कार्रवाई करें। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए विभिन्ना प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं। इस दौरान कालाबाजारी और जमाखोरी की शिकायत पर इसके नियंत्रण के लिए संपूर्ण जिले में टीम गठित किया गया है, जिसके द्वारा लगातार जांच की कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *