छत्तीसगढ़राजनांदगांव जिला

राजनांदगांव : निगम का बजट क्या दिया क्या पाया देखे

‘‘छत्तीसगढ़ महतारी की जय’’

*सबले बढिया छत्तीसगढ़िया।* *
*निरमल बानी सफ्फा मन हे।।*
*हिरद्य मया के कुरिया।*
*एकर सेती कईथे भईया।।*
*सबले बढ़िया छत्तीसगढ़िया*

बजनगर पालिक निगम राजनांदगांव के तृतीय बजट को प्रस्तुत करने से पूर्व मैं हेमा सुदेश देशमुख ,महापौर, महापौर परिषद के सम्मानीय प्रभारी सदस्यगण, सभी वार्डो के पार्षदगण, नामांकित पार्षदों एवं निगम आयुक्त महोदय,सभी अधिकारीगण,निगम में सेवाएं दे रहे सभी कर्मचारियों, सदन में उपस्थित चौथे स्तम्भकार पत्रकारों व शहर तथा जिले के गणमान्य नागरिकों का इस अवसर पर हार्दिक अभिनंदन एवं स्वागत करती हूँ। आप सभी से यह उम्मीद भी करती हूँ एक साथ कदमताल करते हुए ‘‘गढ़बो नवा राजनांदगांव’’ की कल्पना को साकार रूप प्रदान कर नया इतिहास रचेंगे। शहर के नयनाभिराम विकास को गति देते हुए भागीरथी प्रयास के द्वारा उन ऊँचाइयों को प्राप्त करेंगे जिसकी कल्पना शहर के नागरिकों ने अपने दिलों में संजों रखी हैं ।
छत्तीसगढ के माटी व किसान पुत्र यशस्वी मुख्यमंत्री छ.ग. शासन आदरणीय श्री भूपेश बघेल जी का स्वप्न ‘‘गढ़बो नवा छत्तीसगढ‘’ के परिकल्पना को पूरा करने एवं संस्कृति, परंपरा को बचाने मुख्यमंत्री जी का प्रयास हर क्षेत्र में विकास के रूप में चहुं ओर नजर आ रहा है, चाहे राम वन पथ गमन पर्यटन स्थल के रूप में हो या राजीव युवा मितान क्लब से युवाओे को जोडकर उनकी प्रतिभा को निखरने की बात हो या स्लम स्वास्थ्य योजना की ध्यान रखकर (एम.एम.यू.) चलित चिकित्सा वाहन उपलब्ध कराना या फिर जैनेरिक दवाई दुकान के जरिये लोगों को सस्ती दवाई उपलब्ध कराना, ऑगन बाड़ी कार्यकर्ता द्वारा पोषक आहार वितरण, एवं गर्म भोजन की व्यवस्था करवाने की बात हो, चाहे मुख्यमंत्री मितान योजना के माध्यम से एक फोन काल 14545 द्वारा घर पहुंच प्रमाण पत्र की सुविधा उपलब्ध करायी गयी हो ।
‘‘गोयमं लक्ष्मी वसते’’
गोठानो को सुचारू रूप से चलाने, लगातार गोठान को व्यवस्थित कर गोबर की लकडी से लेकर, फूलो से गुलाल तक निर्माण कर महिलाओं को आर्थिक रूप से सुुदृढ़ करने का काम किया, महिला समूह का ऋण माफ कर उन्हें आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाने और लोन की राशि को दुगुना किया, पारंपरिक एवं प्राकृतिक संसाधन से उपलब्ध समानों की ब्रिकी हेतु सी-मार्ट जैसे योजना को लागू किया।
चहॅु ओर विकास की लहर फैल चुकी है। किसान व माटी पुत्र माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी को जितना भी धन्यवाद प्रेषित करे उतना ही कम है। इस कार्य में अपनी सहभागिता देने वाले, नगरीय प्रशासन मंत्री आदरणीय डॉ. शिव कुमार डहेरिया जी, खाद्य एवं प्रभारी मंत्री आदरणीय अमरजीत भगत जी, साथ ही सरकार की योजना को क्रियान्वित करने वाले, राजनांदगांव के सांसद माननीय संतोष पांडे जी, विधायक आदरणीय डॉ. रमन सिंह जी को धन्यवाद प्रेषित करती हूॅ। आप सबके सहयोग से हमने कुछ वार्ड को टैंकर मुक्त किया और आगे भी शेष वार्डो को टैंकर मुक्त करने की प्रक्रिया की जा रही है।
‘‘हमर मयारू राजनांदगांव’’
संस्कारधानी राजनांदगांव की संस्कृति जहॉ राम भी बसते है, जहॉ गुरू ग्रंथ साहिब भी है, तो पैगम्बर साहब भी है, वहॉ जिजेश भी हैः- एक सर्वधर्म भावना से ओतप्रोत संस्कारधानी है। हमने रामघाट – सियाघाट का निर्माण, निःशुल्क स्वर्ग रथ उपलब्ध कराया, तो कहीं शव फ्रिजर भी निःशुल्क उपलब्ध कराया, कहीं पारंपरिक स्वाद के लिए गढकलेवा खोला, तो कहीं पर्यावरण सुरक्षित रखने हजारो पेड लगाये है। सौदर्यीकरण की दिशा में हमको मौलिक अधिकार देने, समानता का अधिकार देने वाली संविधान पुस्तक का निर्माण कराया, वार्डो मंे रोड, नाली, तालाब, मुक्तिधाम सौदर्यीकरण का कार्य भी कराया, वही कारोना काल में मेयर केयर सेंटर स्थापित कर आक्सीजन कंसनटेªटर उपलब्ध कराया।

*मैं और मेरी संस्कारधानी,*
*कुछ यादें, राजाओं की,*
*कुछ यादें, साहित्यकारो की,*
*और कुछ यादें, स्वतंत्रता सेनानी की*
*नतमस्तक हॅॅू कि आप है तो,संस्कारधानी नांदगांव है।*

शहर विकास में जिनका साथ हमेशा रहता है, जिनका हृदय विशाल है उनमें हमारे जनप्रतिनिधिगण, व्यापारी वर्ग, सामाजिक संस्थाए,महिला समूह एवं प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मिडिया को धन्यवाद प्रेषित करती हॅू एवं आगे सहयोग की अपेक्षा करती हूॅ।
नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा (94) से धारा (100) के अंतर्गत नगर पालिक निगम, राजनांदगांव का वर्ष 2021-22 का पुनरीक्षित बजट एवं वित्तीय वर्ष 2022-2023 का वार्षिक आय-व्यय की स्वीकृति हेतु सदन के समक्ष प्रस्तुत कर रहे है। इस निर्वाचित परिषद का यह तृतीय बजट है इसलिये हमने इस बजट में कोई भी नया कर प्रस्तावित नही किया है । हमारा यह प्रयास होगा कि उपलब्ध संसाधनो का अधिकतम उपयोग करते हुए शहर का सर्वागीण विकास करना एवं नागरिकों को मूलभूत सुविधाए उपलब्ध करा सकें।

नगर पालिक निगम,राजनांदगांव के वित्तीय वर्ष 2022-23 का आय-व्यय अनुमान पत्रक प्रस्तुत करते हुए मुझे अत्यंत प्रसंनता हो रही है। सभापति जी वर्ष 2021-2022 के बजट प्रावधानो के विरूद्ध पुनरीक्षित आय 361 करोड़ 52 लाख 34 हजार रूपये तथा पुनरीक्षित व्यय 383 करोड़ 29 लाख 63 हजार रूपये है। बजट अनुमान अंतर्गत कुल अनुमानित आय .472 करोड़ 18 लाख .21 हजार रूपये तथा व्यय 503 करोड़ 11 लाख 46 हजार रूपये था, जबकि वर्ष 2021-22 में प्रारंभिक अवशेष 30 करोड़ 47 लाख 99 हजार रूपये था। वित्तीय वर्ष 2022-2023 के बजट प्रावधान मे प्रस्तावित आय 434 करोड़ .22 लाख 35 हजार रूपये तथा व्यय 466 करोड़ 05 लाख 51 हजार रूपये है। वर्ष 2022-23 का अनुमानित प्रारंभिक अवशेष राशि 31 करोड़ 57 लाख 55 हजार रूपये की संभावना है, इसे मिलाकर कुल आय 465 करोड़ 79 लाख 90 हजार होता है। इस प्रकार घाटे का बजट 25 लाख 61 हजार रूपये प्रस्तावित है।
हमने इस बजट में *‘‘गढ़बो नवा राजनांदगांव’’* की आधारशिला रखी है और सतत् विकास की प्रक्रिया के लिए मूलभूत ढांचा विकसित किया है। इस बजट में हमारा प्रयास होगा कि हम आम आदमी में विकास के प्रति विश्वास का भाव जागृत कर सके तथा महिला एवं पिछड़े और कमजोर आय वर्गो को आर्थिक संपन्नता के दायरे में लाया जा सके।
लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत भारतीय संविधान में दी गई संसदीय प्रणाली की व्यवस्था के आधार पर हम और आप संसदीय धर्म का पालन करते हुए इस सदन में उपस्थित हुए है। दलगत राजनीति से उपर उठकर शहर की जनता की भावना के अनुरूप नगर विकास करने की मंशा को लेकर हमने इस बजट को प्रस्तुत करने के पूर्व नगर निगम के सभी निर्वाचित पार्षदों व गणमान्य नागरिकों से राय लेकर उनके सुझावों को इसमें शामिल किया है। इस प्रस्तुत बजट की प्रमुख विशेषताओं पर आपका ध्यान अपेक्षित हैः-

(1) नंदई में थोक बाजार का निर्माण – नगर पालिक निगम राजनांदगांव सीमांतर्गत नंदई खसरा नं. 144/1 की रकबा 4.144 हेक्टेयर भूमि में शासन के निर्धारित दर राशि रू. 1.00 प्रति वर्गफुट पर भूमि प्राप्त किया जाकर थोक बाजार निर्माण किये जाने 1000.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(2) नगर पालिक निगम के स्वयं का मुक्तिधाम निर्माण – शहर की बढती जनसंख्या को देखते हुये नगर निगम द्वारा शव दाह गृह निर्माण किया जाना प्रस्तावित हैै जिसके लिये 47.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(3) गौरव पथ पर चौपाटी निर्माण– शहरवासियों के मनोरंजन हेतु गौरव पथ पर चौपाटी का निर्माण किये जाने 25.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(4) वार्डों में सामुदायिक भवनों का निर्माण – विभिन्न वार्डाे में सामाजिक, सार्वजनिक गतिविधियों के संचालन हेतु वार्ड मंे सामुदायिक भवनों के निर्माण के लिये 300.00 लाख रूपये प्रवाधान रखा गया है।
(5) फुटकर व्यवसायियों के लिये गुमटी निर्माण– रोड के किनारे व्यवसाय करने वाले फुटकर व्यवसायियों के लिये फ्लाई ओव्हर के नीचे चलित गुमटी का निर्माण किये जाने 50.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(6) गंगा आरती घाट एवं मेला एप्रोच रोड निर्माण – शिवनाथ नदी तट में गंगा आरती घाट एवं मोहारा मेला तक जनमानस की सुविधा के लिये एप्रोच रोड एवं अन्य विकास कार्य कराये जाने 100.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(7) नगर निगम कार्यालय एवं परिसर का जीर्णोद्धार– नगर पालिक निर्माण मे स्थित टाउन हाल कार्यालय एवं परिसर का जीर्णोद्धार कार्य कराये जाने 200.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(8) 15वें वित्त आयोग से पी.सी.सी.रोड, नाली एवं अन्य विकास कार्य – 15वें वित्त आयोग अंतर्गत पेन्ड्री वार्ड के मेडिकल कालेज से पेन्ड्री मुक्तिधाम तक पी.सी.सी. रोड, नाली एंव अन्य विकास कार्य कराये जाने 199.80 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(9) तालाबों का सौदर्यीकरण, उद्यानों का विकास, उन्मुक्त खेल मैदान निर्माण एवं मुक्तिधाम उन्नयन कार्य– राज्य प्रवर्तित योजनांतर्गत विभिन्न तालाबों के सौदर्यीकरण, उद्यान विकास एवं उन्मुक्त खेल मैदान निर्माण एवं मुक्तिधाम उन्नयन कार्य किये जाने 578.42 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(10) शहर के विभिन्न स्थानों में बडे़ नाला-नाली निर्माण – नगर के 51 वार्डो में घर से निकलने वाले निस्तारी पानी के निकासी हेतु बड़े नाला-नाली निर्माण कराये जाने 300.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(11) प्रमुख चौक-चौराहो का सौदर्यीकरण– शहर के प्रमुख चोक-चौराहों के सौदर्यीकरण, रोड डिवाईडर, साईन बोर्ड एवं रोड सौदर्यीकरण कार्य किये जाने 519.61 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(12) शहर के विभिन्न स्थानों पर डामरीकरण कार्य– शहर में सुगम यातायात व्यवस्था उपलब्ध करने की दृष्टि से विभिन्न वार्डो के सड़कों में डामरीकरण कार्य किये जाने 1139.39 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(13) ओपन कांजी हाऊस का निर्माण – नगर के विभिन्न स्थानों में विचरण करने वाले पशुओं के लिये प्रमुख स्थानों पर ओपन कांजी हाऊस का निर्माण किये जाने 75.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है। जहॉ पशुओं के लिये चारा पानी, रख रखाव आदि की समुचित व्यवस्था की जावेगी।
(14) निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत विभिन्न स्थानों में स्थायी शौचालय– राज्य शासन की योजना के तहत शहर को शौच मुक्त रखने के लिये निगम सीमाक्षेत्रांतर्गत विभिन्न स्थानों में स्थायी शौचालय निर्माण किये जाने 100.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(15) शहर में वृहद वृक्षारोपण – नगर को प्रदुषण मुक्त व हरा भरा रखने के उद्देश्य से शहर के रिक्त भूमि पर वृहद वृक्षारोपण किये जाने 50.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(16) छत्तीसगढ़ी पारंपरिक गीत एवं नृत्य – छत्तीसगढ़ी पारंपरिक गीत एवं नृत्य को प्रोत्साहन तथा लोक कलाकारों के सम्मान हेतु सांस्कृतिक आयोजन कराये जाने 25.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(17) महापौर पारंपरिक खेल महोत्सव एवं साहित्य सम्मान– विलुप्त होती छत्तीसगढ़ी पारंपरिक खेलों को प्रोत्साहित करने के लिये खेल प्रतियोगिता का आयोजन एवं क्षेत्र के साहित्य जगत के विशिष्ट प्रतिभाओं के सम्मान के लिये 25.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(18) स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं महापुरूषों की प्रतिमा की स्थापना– भारत को स्वतंत्र करने में अपनी सहभागिता देने वाले शहर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियो एवं महापुरूषो की प्रतिमा निर्माण एवं स्थापना किये जाने 125.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(19) आंगनबाडी, मितानीन व स्वच्छता दीदी का सम्मान– नगर की मितानीनों, आंगनबाडी कार्यकार्ताओं, सहायिकाओ एवं स्वच्छता दीदी का महिला दिवस पर सम्मान किये जाने 10.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(20) प्रतियोगी परीक्षा हेतु ऑनलाईन निःशुल्क प्रशिक्षण एवं निगम ग्रंथालयो का हाईटेक निर्माण– शहर के युवक-युवतियोें को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिये ऑनलाईन निःशुल्क प्रशिक्षण एवं प्रतियोगी छात्र-छात्राओं के बढ़ती संख्या को देखते हुये निगम के ग्रंथालय को हाईटेक निर्माण करने 300.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(21) निर्धन छात्राओं को निःशुल्क शिक्षा– नगर निगम सीमाक्षेत्र में स्थित कन्या शालाओं के छात्राओं को, जो शुल्क नहीं दे सकते उन्हें 9वी से निःशुल्क शिक्षा देने 5.00 लाख रूपये का प्रवाधान रखा गया है।
(22) फोटोग्राफी प्रतियोगिता – शहर के फोटोग्राफी के क्षेत्र में इक्छुक कलाकारों को प्रोत्साहित करने 10.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(23) खेल कलैण्डर एवं चित्रकला प्रतियोगिता – नगर निगम द्वारा शहर मंे खेलो को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न खेल हॉकी, फुटबाल, शतरंज, बैडमिंटन व क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित कर, हॉकी के बच्चों के लिये ग्रीष्मकालीन निःशुल्क प्रशिक्षण शिविर एवं शहर के नवनिहालों के कला को निखारने के लिये नगर स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता के आयोजन कराने 25.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(24) नगर निगम कर्मचारियोें के लिये सस्ते भूखण्ड उपलब्ध कराना– राजनांदगांव नगर निगम में कार्यरत कर्मचारियों के सपने ‘‘हमर निगम हमर आवास’’ को साकार करने, निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत सस्ते मूल्य पर भूखण्ड उपलब्ध कराने 50.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
(25) निगम कर्मचारी कल्याण – निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों से जुडे, जो भी लंबित विषय है उन्हेे समय सीमा तय कर निराकृत किया जायेगा।

*नगर निगम के आय के स्त्रोत में वृद्धि हेतु प्रस्ताव*

(26) मुख्यमंत्री पालिका बाजार योजनांतर्गत व्यवसायिक परिसर निर्माण – निगम के आय में वृद्धि के श्रोत की दृष्टि से पुराने बस स्टैण्ड मे मुख्यमंत्री पालिका बाजार योजनांतर्गत व्यवसायिक परिसर निर्माण कार्य किये जाने 2360.28 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(27) पुत्री शाला में बहुमंजिला व्यवसायिक परिसर का निर्माण – मानव मंदिर चौक के पास स्थित वार्ड नं. 25 में पुत्री शाला के रिक्त स्थान पर सर्वसुविधा युक्त बहुमंजिला व्यवसायिक परिसर निर्माण किये जाने 894.32 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(28) आयुर्वेदिक औषधालय में व्यवसायिक परिसर निर्माण – गुडाखू लाईन स्थित पुराना आयुर्वेदिक औषधालय में बहुमंजिला आधुनिक व्यवसायिक परिसर निर्माण (पी.पी.पी. पद्धति से) किये जाने 1139.72 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(29) मांगलिक भवन निर्माण– शहर में होने वाले मांगलिक कार्य एवं सांस्कृतिक आयोजन हेतु डॉ.बी.आर आम्बेडकर सर्वसमाज मांगलिक भवन निर्माण के लिये 278.67 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
(30) हाईटेक मल्टीलेबल पार्किंग निर्माण– शहर के मध्य यातायात के दबाव को कम कर यातायात सुविधा की दृष्टि से म्युनिस्पल स्कूल स्थित पार्किंग को हाईटेक मल्टीलेबल पार्किंग निर्माण के लिये 500.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
अंत मैं जन आकांक्षाओं के अनुरूप संस्कारधानी के सर्वांगीण विकास मेें समर्पित भाव से एकजुट होकर गढ़बो नवा राजनांदगांव की परिकल्पना को साकार करने का अनुरोध करती हॅॅू।

,*जय हिन्द ,जय भारत, जय छत्तीसगढ़ ..*

Contact us 9399271717

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button