कांकेर जिला (उत्तर बस्तर)

उत्तर बस्तर कांकेर: विधानसभा उप निर्वाचन-2022 : रिटर्निंग ऑफिसर एवं एसडीएम ने ली कोटवारों की बैठक

कहा-मतदाता जागरूकता अभियान में भागीदार बनेंवोट गोपनीय-सुमीत अग्रवालउत्तर बस्तर कांकेर 28 नवंबर 2022विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-80 भानुप्रतापपुर (अजजा) उप निर्वाचन में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जा रही है, जिसके तहत हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा मानव श्रृंखला, रंगोली इत्यादि बनाया जाकर लोगों को मतदान के लिए जागरूक किया जा रहा है।        रिटर्निंग ऑफिसर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री  सुमीत  अग्रवाल तथा एसडीएम चारामा राकेश कुमार गोलछा, जनपद सीईओ चारामा जी.एस. बढ़ई एवं स्वीप कार्यक्रम के नोडल अधिकारी आर.पी. मिरे ने आज जनपद पंचायत चारामा के सभाकक्ष में चारामा तहसील के सभी कोटवारों की बैठक लेकर भानुप्रतापपुर विधानसभा के उप निर्वाचन को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष रूप से संपन्न कराने के लिए अपनी भागीदारी निभाने के निर्देश दिये। मतदान केन्द्रों में की गई व्यवस्था एवं समस्याओं की जानकारी भी कोटवारों से ली गई तथा मतदाता जागरूकता में भागीदार बनने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि भानुप्रतापपुर विधानसभा के उप निर्वाचन में मतदान का समय प्रातः 07 बजे से दोपहर 03 बजे तक निर्धारित की गई है। अतः गांव के सभी मतदाताओं को उक्त निर्धारित समय में मतदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाये, साथ ही गांव में मुनादी भी कराई जाये। सभी मतदाताओं को मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि वोट गोपनीय होता है, आपके द्वारा किये गये मतदान को कोई दूसरा व्यक्ति नहीं जान सकता। स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। अतः मतदाता निर्भीक होकर मतदान करें। रिटर्निंग ऑफिसर श्री सुमीत अग्रवाल ने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं के लिए सभी मतदान केन्द्रों में व्हील चेयर की व्यवस्था की गई है, जिसका उपयोग मतदान केन्द्रो तक पहुंचने के लिए किया जा सकता है।स्वीप के नोडल अधिकारी आर.पी. मिरे ने बताया कि मतदाता जागरूकता अभियान के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा पाम्पलेट उपलब्ध कराये गये हैं, जिसे ग्राम पंचायत के सचिवों को उपलब्ध कराया गया है। उक्त  पाम्पलेट   को ग्राम के उपयुक्त स्थल में चस्पा किया जावे। बैठक में समस्त कोटवारो द्वारा लोकतांत्रिक परम्पराओं की मर्यादा को बनाये रखते हुए स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए, निर्भीक होकर, धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना निर्वाचन में अपने मताधिकार का प्रयोग करने की शपथ भी ली गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button