छत्तीसगढ़

CG : आदिवासी महिला चेहरे पर दांव लगाएगी भाजपा? रेणुका सिंह का नाम सीएम की रेस में शामिल

छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिला है। पांच साल बाद भाजपा ने सत्ता में वापसी की है। अब सवाल ये है कि राज्य की कमान भाजपा किस नेता को सौंपती है। पूर्व सीएम रमन सिंह समेत तमाम नेता सीएम पद की रेस में हैं, लेकिन एक और नाम है जो सीएम पद की रेस में शामिल है और वो नाम है रेणुका सिंह का। रेणुका सिंह फिलहाल भारत सरकार में केन्द्रीय राज्य मंत्री हैं। रेणुका सिंह प्रदेश की भरतपुर सोनहत सीट से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंची हैं। रेणुका सिंह ने कांग्रेस के सीटिंग एमएलए गुलाब कमरों को हराया है, रेणुका सिंह छत्तीसगढ़ में आदिवासी महिला विधायक का एक बड़ा चेहरा हैं।


रेणुका सिंह के राजनीतिक सफर की शुरुआत जनपद पंचायत चुनाव से हुई थी। 1999 में वो पहली बार जनपद पंचायत की सदस्य चुनकर राजनीति में आईं। उसके बाद सन 2000 में बीजेपी ने उनको रामानुजनगर मंडल का अध्यक्ष बना दिया और साल 2002 में समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रहने के साथ ही रेणुका सिंह 2003 में पहली बार सरगुजा संभाग की रामानुजनगर विधानसभा से विधायक चुनी गईं। रेणुका सिंह दूसरी बार साल 2008 में विधायक बनीं। रेणुका स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री रहीं और सरगुजा विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष भी रहीं। रेणुका सिंह ने साल 2019 मे सरगुजा संसदीय क्षेत्र से सांसद बनीं और मोदी सरकार में जनजातीय मामलों की केंद्रीय राज्य मंत्री हैं। 


रेणुका सिंह का जन्म पांच जनवरी 1964 को कोरिया जिले के पोडी बच्चा गांव में हुआ था। फूल सिंह की बेटी रेणुका सिंह का विवाह पड़ोसी जिले सूरजपुर के रामानुजनगर इलाके के रहने वाले नरेंद्र सिंह से हुआ। रेणुका के दो बेटे और दो बेटियां हैं। बेटियों का नाम पूर्णिमा सिंह और मोनिका सिंह है और बेटे यशवंत सिंह और बलवंत सिंह हैं।  स्नातक तक शिक्षा प्राप्त रेणुका सिंह तेज तर्रार छवि वाली नेता मानी जाती हैं।

youtube

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button