राजनांदगांव जिला

इलाज और जांच के दर निर्धारण कर छ ग सरकार ने दी जनता को राहत- कुसुम दुबे

छत्तीसगढ़ प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी की सचिव अधिवक्ता कुसुम दुबे ने कोरोना संक्रमण काल में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा निजी चिकित्सालय में इलाज एवं जांच के दर तय कर राज्य की जनता को काफी राहत दी है क्योंकि कोरोना से एक व्यक्ति ग्रसित नहीं होता बल्कि पूरा परिवार उसका दंश झेलता है शासकीय चिकित्सालय में जगह नहीं होने की दशा में उन्हें निजी चिकित्सालयों में जाना पड़ रहा है और जांच के नाम पर समय-समय पर बड़ी राशि खर्च की बातें सामने आ रही थी जो जनता के लिए बोझ थी । जिससे जनता को बचाने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी एवं स्वास्थ मंत्री टी एस सिंह देव ने जो साहसिक कदम उठा कर दरें तय की है वह इस महामारी के दौर में राहत भरा निर्णय है।

प्रदेश सचिव श्रीमती कुसुम दुबे ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाने छ ग सरकार के निर्णय जनहित में होते रहे है इसी क्रम में निजी अस्पतालो में कोरोना इलाज के नाम पर बड़ी राशि खर्च करने की बाते सार्वजनिक हो रही थी जिस पर तत्काल रोक लगाने प्रदेश के निजी अस्पतालों को 3 केटेगरी में बांट कर दर निर्धारित किये है निर्धारित से अधिक राशि लेने पर लाइसेंस निरस्त की भी कार्यवाही के निर्देश दिए है उसी प्रकार कोरोना संक्रमित व्यक्ति सी टी स्कैन भी करा कर अपने स्वास्थ के प्रति सजग होना चाहता है पर वहाँ भी खर्च के नाम से मायूस हो रहा था जिसपर भी सरकार ने निर्णय लेकर निजी पैथोलॉजी डाइग्नोस्टिक सेंटर में चेस्ट विथआउट कॉन्ट्रास्ट के लिए 1870/- व विथ कॉन्ट्रास्ट 2354/- दर एवं निजी लैब में कोरोना टेस्ट कराने पर भी सरकार द्वारा निर्धारित दर ही लेंगे व अधिक दर लेने की दशा में उन पर कार्यवाही करने का प्रावधान तय जनता को बड़ी राहत दी है । जिसके लिए छ ग सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button