मध्य प्रदेश

औद्योगिक राजधानी के रूप में पहचाने जाने वाले इंदौर शहर में होटल उद्योग का भी तेजी से विस्तार

इंदौर
औद्योगिक राजधानी के रूप में पहचाने जाने वाले इंदौर शहर में होटल उद्योग का भी तेजी से विस्तार होता जा रहा है। शहर के सुपर कारिडोर पर जल्द ही इंडियन होटल्स कंपनी (आइएचसीएल) समूह का भव्य ‘ताज‘ होटल तैयार होगा। कारिडोर पर इंफोसिस के पास करीब तीन एकड़ में होटल की बहुमंजिला इमारत बनेगी। इमसें 350 रूम तैयार किए जाएंगे। आइएचसीएल ग्रुप द्वारा इंदौर के मणिकरण कमर्शियल प्रालि के राजेश मेहता व पिंटू छाबड़ा से 12 मार्च को इस होटल के निर्माण के संबंध में अनुबंध भी किया है।

गौरतलब है कि गांधीनगर मेट्रो डिपो के पास बीएसएफ चौराहे से नैनोद की ओर जाने वाले मार्ग पर भी आइएचसीएल समूह द्वारा बिजनेस क्लास कैटेगरी का विवांता होटल भी तैयार हो रहा है। इंदौर की लक्स स्टे प्रालि कंपनी ने यहां पर 200 रूम क्षमता का 12 मंजिला होटल की इमारत का निर्माण शुरू कर दिया है। कंपनी के डायरेक्टर राजेन्द्र डागा के मुताबिक, दिसंबर 2025 तक यह होटल तैयार हो जाएगा। इस तरह सुपर कारिडोर पर सात किलोमीटर के दायरे में भविष्य में आइएचसीएल समूह के दो बड़े प्रमुख होटल तैयार होंगे। गौरतलब है कि आइएचसीएल द्वारा इंदौर में रसोमा चौराहे के पास फिलहाल सिलेक्शन केटेगरी का ‘वाव क्रेस्ट‘ होटल संचालित किया जा रहा है। इसके अलावा एलआइजी चौराहे पर जिंजर होटल का संचालन भी किया जा रहा है।

अन्य बड़े होटल भी हो रहे तैयार
 ओंकारेश्वर, महाकालेश्वर पहुंच मार्ग के मध्य इंदौर के होने व इंदौर के आसपास औद्योगिक व व्यावसायिक कार्य बढ़ने के कारण शहर में होटल उद्योग का तेजी से विकास हो रहा है। शहर में फिलहाल 350 छोटे-बड़े होटल्स है, इनमें आठ हजार कमरे हैं। इसके अलावा शहर में एक दर्जन चार व पांच सितारा होटल हैं, जिनमें 1200 से 1500 कमरे हैं। इंदौर में आइएससीएल के अलावा बायपास पर नोवाेटेल व रिंंग रोड पर ओमनी रेसीडेंसी होटल भी जल्द तैयार होने वाले हैं।

advertisement
advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button