मध्य प्रदेश

भाजपा से पिछड़ी मध्य प्रदेश लोकसभा चुनाव की तैयारी में कांग्रेस, न प्रत्याशी घोषित हुए और न अभियान

भोपाल.
लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है। मध्य प्रदेश में चार चरणों में चुनाव संपन्न होंगे। भारतीय जनता पार्टी ने सभी 29 सीटों के प्रत्याशी घोषित करने के साथ मतदाताओं तक पहुंचाने के लिए मतदान केंद्र स्तरीय अभियान छेड़ चुकी है। जबकि, कांग्रेस के अभी केवल 10 प्रत्याशी ही घोषित हुए हैं। चुनाव के लिए मुद्दे को राहुल गांधी ने तय कर दिए हैं पर इसे आमजन तक पहुंचाने के लिए किस रूप में अभियान संचालित होगा, इसे लेकर स्पष्टता नहीं है।

पहले चरण में मध्य प्रदेश की सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और छिंदवाड़ा सीट के लिए चुनाव होगा। 20 मार्च को अधिसूचना जारी होने के साथ नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। कांग्रेस ने इनमें से सीधी, मंडला और छिंदवाड़ा के ही प्रत्याशी अभी घोषित किए हैं। जबलपुर में पार्टी महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू को प्रत्याशी बनाने के पक्ष में थी लेकिन वे पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए।

वे ही जिला अध्यक्ष भी थे। नई नियुक्ति के लिए रायशुमारी करने पूर्व मंत्री सुखदेव पांसे को भेजा गया था पर अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ है। पार्टी अभी प्रत्याशी चयन को लेकर रायशुमारी ही कर रही है। पिछले तीन दिनों से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी अलग-अलग संसदीय क्षेत्रों के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। वहीं, चुनाव अभियान को लेकर भी अभी जिला और ब्लाक इकाइयों को कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं दिया गया है।

राहुल गांधी ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान जिन गारंटियों की बात की है, वे ही पार्टी के चुनावी मुद्दे होंगे पर इन्हें किसी तरह से मतदाताओं तक पहुंचाया जाएगा इसके लिए कार्यक्रम घोषित होना बाकी है। उधर, भाजपा के प्रत्याशियों ने चुनाव अभियान प्रारंभ कर दिया है। पार्टी कार्यकर्ता घर-घर तक पहुंचने के अभियान में जुटे हैं। मुख्यमंत्री डा.मोहन यादव से लेकर संगठन पदाधिकारी प्रत्येक बूथ तक पहुंचकर डबल इंजन की केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियां बता रहे है।

19 मार्च को तय होंगे शेष 18 सीटों के प्रत्याशी
मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस 28 पर चुनाव लड़ेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी का कहना कि प्रत्याशियों के नामों की घोषणा दो-तीन में हो जाएगी। पार्टी पदाधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक 19 मार्च को दिल्ली में होगी। एक सीट खजुराहो गठबंधन के सहयोगी समाजवादी पार्टी को दी गई है।

सतत संपर्क और संवाद भाजपा की कार्यशैली
मध्य प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल का कहना है कि सतत संपर्क और संवाद पार्टी की कार्यशैली है। लोकसभा चुनाव की दृष्टि से बूथ विजय शक्ति अभियान प्रारंभ है। 370 वोट बूथ पर अधिक प्राप्त कर पार्टी के लक्ष्य की पूर्ति में कर्यकर्ता जुटा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी में नेतृत्व में पार्टी 370 और एनडीए 400 पार करेगा। मप्र में सभी 29 की 29 सीटें जीतेगी, यह तय है।

हमारे मनोबल में कोई कमी नहीं, पूरी ताकत से लड़ेंगे
प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा का कहना है कि हमारे मनोबल में कोई कमी नहीं है। दो-तीन दिन में प्रत्याशी घोषित हो जाएंगे। विधानसभा चुनाव की तुलना में भाजपा से दोगुनी ताकत से दो-दो हाथ करेंगे। मुद्दे तय हैं और वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मैदान में सक्रिय हैं।

advertisement
advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button