मध्य प्रदेश

राजधानी में निजी स्कूलों की मनमानी पर एक्शन, अभिभावकों की शिकायत के बाद दुकानों पर मारे छापे

भोपाल

मध्य प्रदेश में नए शिक्षा सत्र में स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है।  अलग-अलग दुकानों पर स्कूल शिक्षा और भोपाल जिला प्रशासन के अधिकारियों ने निरीक्षण किया। इसमें स्कूल संचालकों की मनमानी पकड़ी गई। वहीं, जिला शिक्षा अधिकारी की तरफ से निरीक्षण के लिए चार टीमें गठित की गई हैं।

जिला प्रशासन और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी बुधवार शाम को अलग-अलग बुक स्टालों पर पहुंचे। जहां उन्होंने पालकों और दुकानदारों से बातचीत की। एमपी नगर जोन-2 स्थित बुक्स एंड बुक्स स्टेशनरी बुक स्टाल पर अशासकीय आनंद विहार स्कूल तुलसी नगर, केंद्रीय विद्यालय एवं सेंट मेरी स्कूल की पुस्तकें पालकों को प्रिंट रेट पर दी जा रही थीं। यहां 25वीं बटालियन की रेखा पवार कि आनंद विहार स्कूल के बाहर दुकानदार की पर्ची दी गई थी कि पुस्तकें इस दुकान से खरीदें। सेंट मेरी स्कूल के छात्र के अभिभावकों ने भी बताया कि पुस्तकें बुक्स एंड बुक्स स्टेशनरी से खरीदने को कहा गया, जिसका पंचनामा बनाया गया।

वहीं, यहां पर किताबों के अलावा स्कूलों के नाम के ड्रेस मटेरियल भी मौके पर मिले। इसमें पेंट, शर्ट, बैग आदि सामग्री थी। यह सामग्री केंद्रीय विद्यालय, आनंद विहार तुलसी नगर, इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, मिसरोद एवं जीवीएन नोबल स्कूल, गोविंदपुरा के नाम प्रिंट थे। इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, मिसरोद की टीशर्ट 26 इंच 418 रुपये, जी.वी.एन. ग्लोबल स्कूल गोविन्दपुरा का ट्रेक सूट 34 इंच 1230 रुपये, आनंद विहार तुलसी नगर का जैकेट 36 इंच 720 रुपये और केंद्रीय विद्यालय शर्ट 34 इंच 387 रुपये का प्रिंट था।

भोपाल दुकान नंबर 31-32, जोन क्रमांक-1 न्यू स्नेह बुक सेंटर का भी मौके पर निरीक्षण किया गया। इसमें 11 अशासकीय विद्यालयों की पुस्तकें वितरित की जा रही थीं। इसमें आइडियल स्कूल, सेंट थॉमस स्कूल, आई. स्कूल, लीलावती स्कूल, बैंक आफिसर्स स्कूल, वर्ल्ड वे स्कूल, जीवीएन स्कूल, एल.डी.एस. होली कॉस, कम्बाइंड स्कूल, सुभाष उत्कृष्ट विद्यालय शामिल हैं। साथ ही इनकी पुस्तकें इस बुक सेंटर से पालकों को बेची जा रही थीं।

डीईओ कार्यालय में कॉल सेंटर बनाया
भोपाल कलेक्टर के निर्देश पर जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने निजी स्कूलों की किताबें, यूनिफॉर्म समेत अन्य शिक्षण सामग्री निश्चित दुकान से खरीदने का दबाव बनाने की शिकायत पर कार्रवाई और औचक निरीक्षण करने के लिए चार टीमें बनाई हैं। साथ ही डीईओ कार्यालय में एक कॉल सेंटर भी स्थापित किया है। इसमें जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय एडीपीसी एके विजयवर्गीय मोबाइल नंबर 9229444908, एपीसी विनोद कुमार गुप्ता मोबाइल नंबर-9406517024 और सहायक सांख्यकीय अधिकारी डॉ. विकास मिश्रा मोबाइल नंबर 5 9977193947 है।

advertisement
advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button