मध्य प्रदेश

1 मई से शुरू होगी बीएड-एमएड पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए काउंसिलिंग, शेड्यूल जारी

इंदौर. नेशनल काउंसिल फार टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम में प्रवेश को लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। विद्यार्थियों के लिए काउंसिलिंग 1 मई से रखी गई है। विभाग ने शनिवार को इसका शेड्यूल जारी कर दिया है, जिसमें तीन चरण में छात्र-छात्राओं को सीटें आवंटित की जाएगी। प्रक्रिया के दौरान सीएलसी चरण नहीं रखा जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक आनलाइन माध्यम से विद्यार्थियों का पंजीयन और दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया होगी।

बीएड-एमएड, बीपीएड-एमपीएड, बीएससी बीएड, बीएलएड, बीएड (अंशकालीन तीन वर्षीय) और बीएडएमएड पाठ्यक्रम के लिए आनलाइन काउंसिलिंग होगी। इसके माध्यम से प्रदेशभर के पांच हजार कालेजों में विद्यार्थियों को दाखिला दिया जाएगा। करीब 72 हजार सीटें के लिए प्रक्रिया होगी। पहले चरण के लिए पंजीयन प्रक्रिया 1 से 9 मई तक चलेगी। निर्धारित हेल्प सेंटर द्वारा दस्तावेज सत्यापन की आनलाइन प्रक्रिया की जाएगी। यह 11 मई तक चलेगी। अंकसूची, जाति-आय प्रमाण पत्र, मूलनिवासी सहित अन्य दस्तावेज विद्यार्थियों को अपलोड करना होंगे।

21 मई को विभाग पहली मेरिट सूची जारी करेगा। इसके साथ ही विद्यार्थियों को सीट आवंटित की जाएगी। 21 से 25 मई तक छात्र-छात्राओं को फीस का भुगतान करना होगा। अधिकारियों के मुताबिक देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के दायरे में आने वाले 40 कालेजों की चार हजार सीटें शामिल है। कालेज संचालक संघ के अध्यक्ष अभय पांडे और पदाधिकारी गिरधर नागर ने बताया कि तीन चरण में काउंसिलिंग रखी है।

दूसरा चरण 21 मई से 13 जून और तीसरा चरण 7 जून से 30 जून के बीच होगा। कालेज संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों से पिछले चार साल से सीएलसी राउंड करवाने की मांग कर रहे है। हर बार आश्वासन दिया जाता है, लेकिन अधिकारी ध्यान नहीं देते।

advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button