मध्य प्रदेश

डॉक्टरों की मनमानी से लगभग 6से 7 घंटे पीएम के लिए नाबालिक बच्ची का शव पीएम के लिए रोड पर लगायें रहे जाम

टीकमगढ़
ग्राम पंचायत मुहारा में मुस्कान कुशवाहा ने दस वीं परीक्षा में फेल होने के कारण जहरीला पदार्थ खाकर  अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली मुस्कान के माता-पिता दिल्ली गए थे मजदूरी करने के लिए दो बहिन भाई दादी के साथ घर पर रह रहे थे दिनांक 24/ 4 /2024 को परीक्षा का रिजल्ट आया तो जिसमें मुस्कान कुशवाहा फेल हो गई थी जिसके कारण जहरीला पदार्थ खाया जब तबीयत खराब बिगड़ी परिजन जिला अस्पताल टीकमगढ़ लेकर पहुंचे  डॉक्टरो ने देखकर झांसी रेफर कर दिया वहां पर इलाज के दौरान मुस्कान की मौत हो गई.

  पीएम करने के लिए जतारा लाया गया पीएम करने के लिए जतारा थाने में सूचना दी जतारा पुलिस स्टाफ जतारा बीएमओ सहित अन्य डॉक्टर 6 से 7 घंटे लगभग महिला डॉक्टर का  इंतजारकरते रहे  महिला डॉक्टर ने समय पर ना आने के कारण परिजनों ने शव को रखकर किया रोड पर चक्कर जाम तब अधिकारियों द्वारा और क्षेत्रीय विधायक हरिशंकर खटीक जी द्वारा कलेक्टर को अवगत कराया सीएमएचओ को अवगत कराया उसके बाद भी 7 घंटे के  बाद आई महिला डॉक्टर समय पर ना आने के कारण लोगों ने और परिजनों ने उठाई कई प्रकार के सवाल जिले टीकमगढ़ में 4 ब्लॉक हैं जिसमें केवल टीकमगढ़ ही जिले में महिला डॉक्टर बैठती हैं।

और चार ब्लॉक खाली पड़े हैं तीन ब्लाकों में महिला डॉक्टर होना बहुत जरूरी है जब इस संबंध में डॉक्टर रोशन सीएमएचओ  से बात की गई तो डॉक्टर साहब ने कहा की महिला डॉक्टर की आज पेशी थी इसलिए आने में लेट हो गई लेकिन किया पूरे टीकमगढ़ जिले में महिला डॉक्टर एक ही है क्या सवाल तो बहुत उठाते हैं टीकमगढ़ जिले में डॉक्टरों की मनमानी की कहानी टीकमगढ़ जिले में छाई रहती हैं जितना कहा जाए उतना कम समय की कोई पाबंदी नहीं अपनी मनमर्जी से आने जाने का कोई समय नहीं महिला डॉक्टर की इंतजार में 6 घंटे खड़ी रहे जतारा बीएमओ संजय कुशवाहा और अन्य डॉक्टर ऐसा कब तक चलेगा टीकमगढ़ जिले में जंगल राज.

advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button