मध्य प्रदेश

मंडला आदिवासी बाहुल्य जिले में भीमडोगरी स्कूल ने बोर्ड परीक्षा मे लहराया परचम

मंडला आदिवासी बाहुल्य जिले में भीमडोगरी स्कूल ने बोर्ड परीक्षा मे लहराया परचम

शासकीय स्कूल भीम डोगरी कक्षा 10वीं मे 96.5 प्रतिशत और 12वीं मे 98.5 प्रतिशत रहा परीक्षा परिणाम

स्कूल की दिव्यांग बेटी कु. द्रोपती ने पैर से लिखकर  बनाया प्रथम स्थान ये रहा जिले में चर्चा का विषय
मण्डला

जिले की आदिवासी बाहुल्य विकास खण्ड मवई मे संचालित हायर सेकंडरी स्कूल भीमडोगरी स्कूल के माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा घोषित 10वीं  और 12वीं के  बोर्ड परीक्षा 2024 के परिणाम को लेकर जहां छात्रों मे खुशी का माहौल होने के साथ उनके अभिभावकों द्वारा स्कूल प्रबंधन को धन्यवाद ज्ञापित कर रहे हैं वहीं स्कूल के परिणाम को लेकर लोग सराहना कर रहे हैं। क्योंकि यह क्षेत्र जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर होने के साथ आदिवासी जनजाति वाला क्षेत्र माना जाता है, अधिकांश इस स्कूल मे आदिवासी छात्र अध्ययन करते हैं। जहां लोगों प्राप्त जानकारी अनुसार यहां पदस्थ  प्राचार्य प्रदीप कुमार पटेल की कुशल प्रबंधन क्षमता के चलते और स्कूल मे पदस्थ सभी शिक्षकों का बच्चों के अध्यापन कार्य मे रूचि और मेहनत की बदौलत बच्चों का उज्जवल भविष्य देखने को मिल रहा है।

        बता दें  की हाईस्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण करने वाली दिव्यांग बालिका द्रोपती धुर्वे इसी स्कूल की छात्रा है। जिसके सामर्थ्य का सम्मान करने कलेक्टर डॉ. सलोनी सिडाना छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा से लगे ग्राम भीमडोंगरी विगत दिवस पहुँची। द्रोपती के दोनों हाथ नहीं है फिर भी उसने पैरों से उत्तर लिखकर दसवी बोर्ड की परीक्षा को प्रथम श्रेणी से पास किया है। इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. सलोनी सिडाना ने कहा कि वनांचल में रहने वाली द्रोपती का यह हौंसला और सामर्थ्य प्रेरणास्पद है। द्रोपती ने अपने हौसलों के दम पर यह प्रमाणित कर दिया है

कि यदि मन में कुछ करने का संकल्प है तो कोई भी बाधा उसे प्रभावित नहीं कर सकती। हर बच्चों को द्रोपती के संकल्प से सीखने की आवश्यकता है। इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. सिडाना ने द्रोपती का सम्मान कर उसके अध्ययन के लिए हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया। कलेक्टर ने कहा कि वनांचल में संचालित इन विद्यालयों की सफलता ने प्रमाणित कर दिया है कि कामयाबी में संसाधन से अधिक मेहनत का महत्व होता है। उन्होंने शिक्षकों द्वारा किए गए प्रयास की सराहना करते हुए उन्हें आगामी वर्ष में शतप्रतिशत परीक्षा परिणाम सुनिश्चित करने के लिए प्रेरित किया।

        ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने दिव्यांग छात्रा द्रोपती  के ब्रांडेड बायोनिक आर्टिफिशियल हैंड लगवाने का बीड़ा उठाया है ।  एसोशिएशन ने जनपद पंचायत मवई के सहयोग से छात्रा के घर पर पानी टंकी और कमोड युक्त शौचालय बनाने का भी निर्णय लिया है ऐसोसिएशन ने छात्रा की पढ़ाई आदि के लिए कलेक्टर मंडला डॉ सलोनी सिडाना द्वारा प्रयासों की  प्रशंसा की है।
   जिले मे शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भीमडोगरी  का परीक्षा परिणाम जिले के अच्छे परिणाम देने वाले शासकीय स्कूलों इस स्कूल  का नाम तीसरा है।

        जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त परीक्षा परिणाम के आधार पर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भीमडोगरी का वर्ष  2024 का परीक्षा परिणाम  कक्षा 10वीं मे परीक्षा मे कुल 86 छात्र बैठे थे जिसमें 83 छात्र उत्तीर्ण, 50 छात्र प्रथम श्रेणी पास, जिससे स्कूल परीक्षा परिणाम 96.5 प्रतिशत रहा। अगर बात करें पिछले बर्ष 2023 के परीक्षा परिणाम की तो पिछले वर्ष कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम 87.7 प्रतिशत रहा है जो इस वर्ष से 8.8 प्रतिशत कम था, मसलन इस बर्ष परिणाम  पिछले बर्ष की अपेक्षा अधिक रहा।
       वहीं कक्षा 12वीं  की परीक्षा मे बैठने वाले छात्रों की संख्या  135 थी जिसमें 133 छात्र उत्तीर्ण 76  छात्र प्रथम श्रेणी पास हुए,और परीक्षा परिणाम 98.5 प्रतिशत रहा। अगर बात करें पिछले बर्ष 2023 के परीक्षा परिणाम की तो पिछले वर्ष कक्षा 12वीं का परीक्षा परिणाम 94.28 प्रतिशत रहा है जो इस वर्ष से 4.22 प्रतिशत कम था, मसलन इस बर्ष परिणाम  पिछले बर्ष की अपेक्षा अधिक रहा।
         आवश्यकता है जिले मे शिक्षकों  की अध्यापन कार्य मे स्कूल मे अध्ययन कर रहे बच्चों के प्रति ईमानदारी से शिक्षा देने की। इस आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र मे प्रतिभाशाली बच्चों की कमी नही है बशर्त उन्हें मार्ग दर्शन अच्छा मिले, जिससे इस जिले से  एक से बढ़कर प्रतिभा निकल कर सामने आएगी और जिले का नाम रोशन करेंगी जो आज दिव्यांग  बच्ची ने अपना जौहर दिखा दिया जो आज जिले मे नही अपितु प्रदेश मे चर्चा का बिषय बना हुआ है। और बच्ची को बधाईयों का तांता लगा हुआ है।  उसकी यह कामयाबी और यहां  के शिक्षकों की शिक्षा के प्रति कर्तव्य निष्ठा से आज स्कूल के साथ जिले का भी नाम रोशन हुआ है।

इनका कहना-
      हमारे स्कूल के सभी शिक्षकों द्वारा छात्रों के अध्यापन कार्य मे पूरी निष्ठा से कार्य किये जाने से आज विद्यालय का परीक्षा परिणाम पिछले वर्ष की अपेक्षा बहुत अच्छा रहा। यह परिणाम का श्रेय स्कूल परिवार को जाता है।

प्रदीप कुमार पटेल
प्राचार्य
शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल, भीमडोगरी, मवई, मण्डला

       
 

advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button