मध्य प्रदेश

पैर से लिखकर परीक्षा देकर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा के लगेंगे कृत्रिम हाथ -डी के सिंगौर

पैर से लिखकर परीक्षा देकर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा के लगेंगे  कृत्रिम हाथ -डी के सिंगौर

ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने छात्रा के  आर्टिफिशियल हैंड लगवाने का उठाया बीड़ा

मंडला
कबलियत किसी की मोहताज नहीं होती सच्ची लगन मेहनत जाया नहीं जाती चाहे कितनी भी परेशानियां आ जाए मेहनत रंग लाती है ऐसा ही एक मामला जो जिले में चर्चा का विषय बना हुआ हैं बच्ची की लगन को देख कर उसके उज्ज्वल भविष्य लिए अनेक सामाजिक सगठन मदद के लिए आगे आ रहे है प्राचार्य से मिली जानकारी के अनुसार बच्ची को आगे ओर भी मदद मिलने की संभावना है
हायर सेकेण्डरी स्कूल भीमडोंगरी में अध्ययनरत दोनों हाथों से दिव्यांग छात्रा द्रोपती धुर्वे जिसने इस वर्ष की कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में अपने पैरों से लिखकर प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया है।

ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने छात्रा और उसके परिजनों से मुलाकात की एवं एक अभिनंदन कार्यक्रम हायर सेकेंडरी स्कूल भीमडोंगरी में आयोजित किया। कार्यक्रम में शिक्षक पदाधिकारियों ने द्रोपति धुर्वे की इस विलक्षण प्रतिभा और पढ़ाई के प्रति  जुनून और हौसला की सराहना की द्रोपती का तिलक वंदन से अभिनन्दन किया और शुभकामनाएं दी । शिक्षिका पूजा डोंगरे, मीना साहू, सरिता सिंग और अर्चना गोमास्ता ने छात्रा द्रोपती धुर्वे को कई जोड़ी वस्त्र और कापियों के सेट भेंट किए।

विद्यालय के प्राचार्य प्रदीप पटेल ने बताया कि इस छात्रा को पैर से लिखने के लिए सर्वप्रथम प्रेरणा प्राथमिक स्तर की शिक्षिका चंद्रकला मरकाम से मिली तदोपरांत शिक्षिका रजनी तिग्गा का सहयोग उल्लेखनीय रहा है। ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष डी के सिंगौर ने कहा कि द्रोपती में पढाई के प्रति गहरी लगन है ताज्जुब है कि वह सामान्य विद्यार्थियो की तरह पैरो से उसी गति से लिखने का काम अच्छी सुंदर राइटिंग के साथ कर लेती है पैरों से मेहंदी भी लगा लेती है और रंगोली भी सजा लेती है ।

जब छात्रा की मनसा शिक्षक बनने की है तो ऐसे में यह आवश्यक है कि छात्रा के हाथ ठीक से काम करे। इसलिए ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन ने छात्रा के ब्रांडेड बायोनिक आर्टिफिशियल हैंड लगवाने का बीड़ा उठाया है । इसके लिए छात्रा के हाथों के मसल्स पावर आदि का परीक्षण कर उसके फोटो वीडियो कई ब्रांडेड कंपनियों को भेज कर जानकारी इकट्ठी कर रहा है  और इस महीने के अंत तक छात्रा के आर्टिफिशियल हैंड लगने की संभावना जताई है। एसोसिएशन का मानना है कि छात्रा अभी कई अपने दैनिक कार्यों के लिए अपने परिजनों पर निर्भर रहती है आर्टिफिशियल हैंड लग जाने के बाद वह अपने कई नित्य कार्यों को स्वयं कर सकेगी।

एसोशिएशन ने जनपद पंचायत मवई के सहयोग से छात्रा के घर पर पानी टंकी और कमोड युक्त शौचालय बनाने का भी निर्णय लिया है ऐसोसिएशन ने छात्रा की पढ़ाई आदि के लिए कलेक्टर मंडला डॉ सलोनी सिडाना द्वारा प्रयासों की  प्रशंसा की  है और छात्र के उज्जवल भविष्य के प्रति आशाएं जगी हैं। छात्रा द्रोपती ने सभी शिक्षकों के बीच सुंदर लिपि में पैर से लिखकर दिखाया और शिक्षिका के हाथों में मेंहदी भी लगाई। इस अवसर पर ट्राईबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की महिला विंग जिला अध्यक्ष श्रीमती मीना साहू, प्रांतीय उपाध्यक्ष श्रीमती अर्चना गोमास्ता, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष सरिता सिंह, जिला अध्यक्ष दिलीप मरावी वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष उमेश यादव मोहगांव ब्लॉक अध्यक्ष लोक सिंह पदम, नारायणगंज ब्लॉक अध्यक्ष कमलेश मरावी, जयदेव मार्को, शीतेन्द्र सिंगौर,    यूमल सिंह मरकाम, चैन सिंह मरकाम, गंगाराम राठौर, रविंद्र भासंत, राजकुमार मांठे, यसवंत झारिया, अमर सिंह ,महेंद्र नेताम,शैल संत और विद्यालय के प्राचार्य प्रदीप पटेल  उपस्थित थे ।

advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button