छत्तीसगढ़राजनांदगांव जिला

राजनांदगांव : लोकसभा निर्वाचन 2024 – मतगणना कार्य शत प्रतिशत सही एवं त्रुटिरहित ढंग से करें संपन्न – कलेक्टर

– मतगणना सहायकों को दिया गया प्रथम चरण का प्रशिक्षण
– मतगणना अधिकारियों को मतगणना कक्ष के टेबल पर सुबह 7 बजे देनी होगी उपस्थिति

राजनांदगांव 16 मई 2024। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री संजय अग्रवाल ने मतगणना कार्य को संपूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया में सबसे महत्वपूर्ण बताते हुए इस कार्य को शत प्रतिशत सही एवं त्रुटिरहित ढंग से संपन्न कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने लोकसभा निर्वाचन 2024 के अंतर्गत 4 जून 2024 को होने वाली मतगणना के लिए आज 16 मई को जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित मतगणना सहायकों के प्रथम चरण प्रशिक्षण के दौरान मतगणना कार्य में लगे अधिकारियों-कर्मचारियों को उक्ताशय के निर्देश दिए हैं। प्रशिक्षण में मतगणना प्रक्रिया के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत सुश्री सुरूचि सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती इंदिरा नवीन प्रताप सिंह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री खेमलाल वर्मा, रिटर्निंग अधिकारी, सहायक रिटर्निंग अधिकारी, जिला स्तरीय मास्टर टे्रनर्स एवं मतगणना कार्य में लगे अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री अग्रवाल ने मतगणना प्रक्रिया को भारत निर्वाचन आयोग के नियमानुसार एवं शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मतगणना कक्ष का वेबकास्टिंग की जाएगी। मतगणना कक्ष की गतिविधियों की मॉनिटरिंग भारत निर्वाचन आयोग, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रायपुर द्वारा की जाएगी। उन्होंने सभी अधिकारियों को मतगणना के दिन निर्धारित समयावधि में मतगणना स्थल में अनिवार्य रूप से उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने मतगणना अधिकारियों को मतगणना कार्य की विभिन्न प्रक्रियाओं के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सबसे पहले डाक मतपत्र एवं ईटीपीबीएस की गणना शुरू की जाएगी। इसके बाद ईव्हीएम मशीन से मतों की गणना की जाएगी। उन्होंने कहा कि ईव्हीएम मशीन से मतों की गणना के समय मशीन को सही तरीके से प्रदर्शित करना है और उसकी जानकारी सही उच्चारण कर जाली के बाहर बैठे अभिकर्ता एवं एजेंट को बताना है। उन्होंने कहा कि अभिकर्ता एवं एजेंट को संतुष्ट करना है इसमें किसी प्रकार की विवाद की स्थिति नहीं होनी चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि मतगणना प्रक्रिया सहित पूरी तरह से मतगणना कक्ष, मतगणना परिसर, स्ट्रांग रूम में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति की गतिविधि सीसीटीवी कैमरा की निगरानी में रहेगा। मतगणना स्थल पर मोबाईल एवं इलेक्ट्रानिक गैजेट का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।
प्रशिक्षण में मतगणना केन्द्र एवं मतगणना कक्ष के आधारभूत संरचना एवं आदर्श बैठक व्यवस्था के संबध्ंा में जानकारी दी गई। मतगणना 4 जून 2024 को छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउस कार्पोरेशन गंज मंडी बसंतपुर राजनांदगांव में की जाएगी। मतगणना अधिकारियों-कर्मचारियों को सुबह 7 बजे तक मतगणना स्थल के मतगणना टेबल में उपस्थित होना अनिवार्य है। मतगणना विधानसभावार अलग-अलग कक्षों में की जाएगी। प्रत्येक कक्ष में ईव्हीएम गणना के लिए 14-14 टेबल की व्यवस्था की गई है। प्रत्येक टेबल पर एक सुपरवाईजर, एक गणना सहायक और एक माइक्रो आब्र्जवर के अलावा एक चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई है। इसके अलावा मतगणना कक्ष के लिए प्रभारी अधिकारी भी तैनात किए गए हैं। मतगणना कक्ष में जाली के बाहर मतगणना अभिकर्ता उपस्थित रहेंगे, जो मतगणना कार्य की प्रत्येक गतिविधियों का अवलोकन करेंगे। मतगणना के दौरान सबसे पहले डाक मतपत्रों और ईटीपीबीएस की गणना की जाएगी।
प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर्स श्री कैलाश शर्मा, श्री दीपक ठाकुर एवं उनकी टीम द्वारा ईटीपीबीएस, डाकमत पत्र, ईव्हीएम एवं वीवीपैट की मतगणना के सबंध में आवश्यक नियमों एवं निर्देशों के बारे में बारीकी से जानकारी दी। उन्होंने मतगणना की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आवश्यक नियमों एवं निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ईटीपीबीएस, डाकमत पत्रों एवं ईव्हीएम में दर्ज मतों की गणना के संबंध में आवश्यक जानकारी दी। डाक मतपत्रों की गणना, ईव्हीएम में दर्ज मतों की गणना, मतगणना पूर्ण होने के पश्चात ईव्हीएम और निर्वाचन सामग्री को सील करना, परिणामों की घोषणा और अन्य महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया। मतगणना कार्य के साथ ही टेबुलेशन, ईव्हीएम एवं अन्य प्रपत्रों की सीलिंग के संबंध में आवश्यक जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान मतगणना की बारीकियों को बताया गया। प्रशिक्षण के दौरान बताया गया कि डाकमत पत्रों के माध्यम से प्राप्त वोट की गणना पहले की जाएगी। ऐसे डाकमत पत्र जो रिजेक्ट किए जाएंगे उसे अलग से रखा जाएगा। ईटीपीबीएस के संबंध में जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान यह बताया गया कि सिलिंग कार्य महत्वपूर्ण है तथा रिटर्निंग ऑफिसर इस पर विशेष ध्यान देते हुए कार्य करेंगे। इस दौरान सभी अधिकारियों ने मतगणना कार्य के लिए प्रेक्टिकल करके देखा तथा मतगणना कार्य के दौरान आने वाली शंकाओं एवं जिज्ञासाओं का समाधान किया गया।

advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button