छत्तीसगढ़राजनांदगांव जिला

छुरिया: विधायक भोलाराम के गढ़ में कांग्रेस की लीड हुई कम

0 कांग्रेस के दो पूर्व विधायक के गृह ग्राम से भी हारे

0 कांग्रेस में गुटबाजी के चलते हुई दुर्दशा

छुरिया- लोकसभा चुनाव परिणाम खुज्जी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के लिए काफी निराशाजनक रहा । हाल में हुए विधानसभा चुनाव मेंकांग्रेस विधायक भोलाराम साहू ने भाजपा प्रत्याशी को लगभग 26 हजार मतों से हराया था । वहीं इस लोकसभा चुनाव में विधानसभा चुनाव की तुलना में 11 हजार वोट कम मिले । खुज्जी विधानसभा के दो पूर्व विधायक के गृह ग्राम में भी कांग्रेस की करारी हार हुई है। लोकसभा चुनाव मे कांग्रेस की आपसी गुटबाजी के चलते इस लोकसभा चुनाव में उसकी दुर्दशा हो गई ।

तीन माह पूर्व हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस विधायक भोलाराम साहू ने भाजपा प्रत्याशी गीता साहू को लगभग 26 हजार मतों से हराकर कांग्रेस पार्टी की शानदार जीत दर्ज करायी थी । किन्तु इस लोकसभा चुनाव में 11 हजार मतों से पिछड़ गए जिससे कांग्रेस प्रत्याशी की लीड कम हो गई । लोकसभा चुनाव में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुज्जी विधानसभा में लगभग 14900 मतों से चुनाव जीत तो गये पर खुज्जी में कांग्रेस ने जिस लीड की उम्मीद की थी वह नहीं मिल पायी । लोकसभा चुनाव में खुज्जी विधानसभा में ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष होने के बाद पुनः कार्यकारिणी अध्यक्ष बनाया गया इससे कांग्रेस की गुटबाजी बढ़ गई । वहीं लोकसभा चुनाव में जहां-जहां भूपेश बघेल की चुनावी सभाएं हुई वहां बैनर, झण्डे, पोस्टर तो दिखाई दिए लेकिन कई गांवों में इसका अभाव था । वहीं बूथ सेक्टर प्रभारी एवं बूथ अध्यक्ष बदलने से भी निष्ठावान कांग्रेसियों को घोर निराशा हुई । विधानसभा चुनाव में जिन कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने विधायक भोलाराम साहू को ऐतिहासिक जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी उन्हे छोड़कर अपने चाटुकारिता समर्थकों को इसका जिम्मा सौंप दिया गया । इससे नाराज निष्ठावान कांग्रेस कार्यकर्ता घर बैठ गए । इसकी शिकायत भी पार्टी की बैठक में निरंतर होती रही । भोलाराम साहू के खास समर्थक के पार्टी गाइड लाईन के विपरीत कार्य करने पर उसके खिलाफ निंदा प्रस्ताव भी पारित हुआ लेकिन उस पर कार्यवाही नहीं हुई । इससे भी कार्यकर्ता नाराज दिखे । जिले के कांग्रेस शीर्ष नेताओं ने इस मामले में चुप्पी साध ली, परिणाम विधानसभा की तर्ज पर खुज्जी में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की जीत तो हुई लेकिन लीड सिमट कर आधी रह गई ।

0 दो पूर्व कांग्रेस विधायक अपने गृह ग्राम से हारे चुनाव

लोकसभा चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के चुनावी सभा में भाजपा की तीखी आलोचना कर बघेल के पास अपना कद बढ़ाने पहुंचे दो पूर्व विधायक छन्नी साहू अपने गृह ग्राम पैरीटोला से एवं पूर्व विधायक प्रकाश यादव के ग्राम घोघरे से कांग्रेस प्रत्याशी को करारी हार का सामना करना पड़ा ।

0 कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष, कार्यकारिणी अध्यक्ष भी हारे अपने गांव

नगर पंचायत छुरिया के तीन बूथों में कांग्रेस की पराजय हुई यहां पर कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष रितेश जैन को बूथ का जिम्मा सौंपा गया था, जहां इन्हें हार का सामना करना पड़ा । उसी तरह कांग्रेस लोकसभा चुनाव में आपसी गुटबाजी के चलते भोलाराम के कट्टर समर्थक राजकुमार सिन्हा को कांग्रेस पार्टी का कार्यकारिणी अध्यक्ष मनोनीत किया गया था । जिनके गृह ग्राम शिकारीमहका में भी कांग्रेस पार्टी को करारी शिकस्त मिली है।

advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button