छत्तीसगढ़

अम्बिकापुर : जिला प्रशासन की सार्थक पहल लाई रंग, अब खनन प्रभावित क्षेत्र के बच्चे अंग्रेजी माध्यम से कर सकेंगे स्कूली शिक्षा पूरी

अगले सत्र से आरवीयूएनएल साल्ही में शुरू करेगा हायर सेकेण्डरी की पढ़ाईग्रामीणों की बरसो पुरानी मांग हुई पूरीअम्बिकापुर 25 सितम्बर 2022 कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार के पहल से उदयपुर विकासखंड के खनन प्रभावित क्षेत्र के बच्चे अब सीबीएसई बोर्ड की अंग्रेजी माध्यम से पूरी स्कूली शिक्षा पा सकेंगे। 10 वी के बाद आगे की पढ़ाई के लिए अन्यत्र भटकना नही पड़ेगा। बरसो पुरानी मांग पूरी होने से खनन प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों में खुशी छाई है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के पहल पर धन्यवाद ज्ञापित किया है। उदयपुर के परसा ईस्ट -केते -बासेन के कोयला खनन प्रभावित ग्राम साल्ही में राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड के द्वारा संचालित सीबीएसई अंग्रेजी माध्यम स्कूल में अगले शिक्षा सत्र 2023 से 11वी एवं 2024 से 12 वी की पढाई शुरू हो जाएगी। इस सबन्ध में आरवीयूएनएल के द्वारा मंजूरी देते हुए कलेक्टर को अवगत कराया गया है।ज्ञातव्य है कि उदयपुर विकासखण्ड के परसा ईस्ट-केते-बासेन में राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन लिमिटेड के द्वारा कोयला उत्पादन किया जा रहा है। कंपनी द्वारा कोयला खनन प्रभावित ग्राम साल्ही में कक्षा पहली से 10 वी तक सीबीएसई बोर्ड की अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित किया जा रहा है जहां खनन प्रभावित परिवार के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा दी जा रही है। इस स्कूल से 10 वी की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद अंग्रेजी माध्यम से हायर सेकेण्डरी की पढ़ाई के लिए विद्यर्थियों को भटकना पड़ता है। खनन प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों ने इस स्कूल में हायर सेकेण्डरी कक्षा शुरू करने के लिए जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा था। कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार ने इस स्कूल में हायर सेकेण्डरी की कक्षाएं शुरू करने हेतु पहल करते हुए आरवीयूएनएल के अधिकारियों को तत्काल अवश्यक कार्यवाही करने कहा था। जिला प्रशासन द्वारा खनन प्रभावित क्षेत्र के लोगां की समस्याओं का निराकरण तथा क्षेत्र में विकास के कार्य हेतु रोड मैप तैयार करने लगातार समाधान कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button