मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में बारिश की संभावना नहीं, बढ़ सकता है तापमान, हवाओं का रुख बदलने से गर्मी से राहत

भोपाल
वर्तमान में अलग-अलग स्थानों पर दो मौसम प्रणालियां सक्रिय हैं। इससे हवाओं का रुख बदल रहा है। कुछ नमी आने के कारण दोपहर बाद ऊंचाई के स्तर पर बादल छा जाते हैं। इस वजह से दिन के तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो रही है। उधर, ऊंचाई के स्तर पर हवा का रुख उत्तरी बने रहने से अधिकतर शहरों में रात का तापमान सामान्य के आसपास बना हुआ है। इस वजह से फिलहाल गर्मी से कुछ राहत मिली है।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, गुरुवार से तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। एक पश्चिमी विक्षोभ अभी सक्रिय है। दूसरा पांच अप्रैल को आने वाला है। इस वजह से अभी दिन के तापमान में अधिक बढ़ोतरी होने की संभावना कम है। मंगलवार को प्रदेश में सबसे अधिक 40.1 डिग्री सेल्सियस तापमान खंडवा में दर्ज किया गया।
 
मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी प्रकाश ढवले ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ ईरान के आसपास द्रोणिका के रूप में बना है। पूर्वी विदर्भ से लेकर तमिलनाडु तक एक द्रोणिका बनी हुई है। बुधवार को भी मौसम का मिजाज इसी तरह बना रह सकता है। गुरुवार से तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है।

रात के तापमान में आ रही है कमी
मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में हवाओं का रुख दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। द्रोणिका के प्रभाव से हवाओं के साथ कुछ नमी आ रही है। इस वजह से ऊंचाई के स्तर पर बादल बने हुए हैं। इस वजह से दिन के तापमान में विशेष बढ़ोतरी नहीं हो रही है। साथ ही ऊंचाई के स्तर पर हवाओं का रुख उत्तरी भी बना हुआ है। इस वजह से रात के तापमान में भी कमी आ रही है। उधर, पांच अप्रैल को एक नए पश्चिमी विक्षोभ के भी उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। इस वजह से इस सप्ताह दिन-रात में तापमान में विशेष बढ़ोतरी होने के आसार कम ही हैं।

advertisement
advertisement
advertisement
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button