चहुंओर पानी… मोंगरा सहित 3 बैराज के खोले गेट, पुलिया पर चढ़ा बाढ़ का पानी, नाले में बहे युवक की मिली लाश

जिले में दो दिन तक अच्छी बारिश होने से नदी, नालों और बैराज का जल स्तर बढ़ा है। इससे सिंचाई को लेकर चिंता दूर हो गई है। कैचमेंट एरिया में लगातार बारिश के बाद मोंगरा बैराज के दो गेट खोलने पड़ गए हैं। यहां से 4 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। सूखा नाला और घुमरिया बैराज से भी पानी छोड़ने की नौबत आ गई है। बारिश के बाद से धान की फसल सुधरने लगी है।

इधर मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने जिले में पिछले 24 घंटे में तेज बारिश की संभावना जताई है। पानी के अभाव में धान के पौधे झुलस रहे थे पर अब लगभग 50 फीसदी फसल बचने की संभावना है। रपटा, नाला में पानी बहाव तेज होने से कई गांव मुख्यालय से कट गए हैं। ग्रामीण पानी उतरने का इंतजार कर रहे। मोटर साइकिल सहित नाले में बहे एक युवक की सोमवार को शव बरामद की गई। इधर कोलिहापुरी रपटा पुलिया में पानी भर गया है। बाढ़ में बहने का खतरा है। बावजूद गांव के बच्चे यहां मछली पकड़ते दिखे। इन्हें कोई रोकने-टोकने वाला नहीं था। यहां सुरक्षा के इंतजाम भी नहीं है।

फसल की स्थिति सुधरी, दूर हुई किसानों की चिंता
खेतों में पर्याप्त पानी होने से खेती कार्य में भी तेजी आई है। वहीं बारिश थमने के बाद जगह-जगह मुसीबतों और समस्याओं की तस्वीर भी सामने आ रही है। रपटा, नाला में पानी भरे होने की वजह से कई गांव मुख्यालय से कटे हुए हैं। इधर शहरी क्षेत्र में नगर निगम की सफाई व्यवस्था की पोल खुली। श्रमिक बस्तियों में पानी भरने की शिकायत सामने आती रही। बारिश थमने के बाद लोग पानी निकालने और क्षतिग्रस्त हो चुके मकान की मरम्मत में जुटे रहे।

मोंगरा बैराज में अब 85 फीसदी जल भराव
जिले के कैचमेंट एरिया में अच्छी बारिश होने से मोंगरा बैराज, सूखा नाला बैराज, घुमरिया बैराज का जल स्तर बढ़ गया है। ईई एसके सहारे ने बताया कि मोंगरा बैराज में 85 प्रतिशत जल भराव हुआ है। लगातार पानी का स्टोरेज हो रहा है। इसलिए दो गेट खोल दिए हैं और पानी छोड़ रहे हैं। सूखा नाला बैराज में 80 प्रतिशत जलभराव हुआ है। यहां से 3 हजार 600 क्यूसेक पानी छोड़ रहे हैं। घुमरिया बैराज से 1 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है।

स्टोर रूम में भरे पानी को निकालने में जुटे कर्मचारी
शहरी क्षेत्र में सीएमएचओ दफ्तर परिसर में स्थित स्टोर रूम में पानी भर गया था। बारिश थमने के बाद कर्मचारी पानी की निकासी में जुटे रहे। हालांकि ज्यादा कुछ नुकसान नहीं हुआ है। बसंतपुर अस्पताल के वार्डों में भी पानी भरने की शिकायत सामने आई। अभी ज्यादा मरीज भर्ती नहीं हैं।

गांव तक सिमटे ग्रामीण, पानी उतरने का इंतजार कर रहे
मानपुर, मोहला, अंबागढ़ चौकी क्षेत्र के भीतरी गांवों के रपटा, पुलिया के ऊपर से पानी का बहाव हो रहा है। आसपास जल स्तर बढ़ने के कारण ग्रामीण आवाजाही नहीं कर पा रहे हैं। औंधी इलाके में भी यही स्थिति है। इधर कोलिहापुरी के रपटा पुल में पानी भर जाने से आवाजाही बंद हो गई। गांव का एक हिस्सा बाढ़ से घिरा हुआ है। ग्रामीण पुलिया से पानी उतरने का इंतजार कर रहे हैं।

नाला पार करते समय बह गया था मोटर मैकेनिक
छुरिया में बाइक रिपेयरिंग की दुकान चलाने वाला युवक पुरुषोत्तम सिंह 12 सितंबर को पड़ोसी दुकानदार शेखर भारद्वाज से बाइक मांगकर शौच के लिए निकला था। युवक नहीं लौटा तो उसकी पतासाजी शुरू की गई। युवक के गांव लालूटोला और ससुराल तक पता लगाया गया। सोमवार को लोगों ने चंदेनीडीह नया शराब भट्ठी के पहले नाले में बाइक फंसे देखकर पुलिस को सूचना दी। ग्रामीणों की मदद से मोटर साइकिल निकाली गई। इसके नीचे युवक दबा हुआ था। पानी में डूबने से युवक की मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *