देवताओं का दिन होगा शुरू, रायपुर के अयप्पा मंदिर में जगमगाएंगी हजारों ज्योति

सूर्य के 14 जनवरी को मकर राशि में प्रवेश करते ही उत्तरायण काल शुरू हो जाएगा। इस शुभ काल को देवताओं का दिन माना जाता है। इस साल 2022 में पौष माह के शुक्ल पक्ष की द्वाद्वशी तिथि पर शुक्रवार को रोहिणी नक्षत्र में सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होगा। मकर संक्राति पर पवित्र नदियों में पुण्य स्नान की मान्यता के चलते महादेवघाट और त्रिवेणी संगम राजिम में श्रद्धालु डुबकी लगाएंगे। रात्रि में मकर संक्राति पर टाटीबंध स्थित भगवान अयप्पा मंदिर परिसर में हजारों ज्योति प्रज्जवलित की जाएगी।

सुरेश्वर महादेव पीठ में सुंदर कांड

कचना रोड स्थित श्री सुरेश्वर महादेव पीठ के स्वामी राजेश्वरानंद सरस्वती ने बताया कि मकर संक्रांति पर दोपहर दो बजे से सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा। शाम चार बजे महाआरती की जाएगी। आचार्यों पंचांग का वितरण करेंगे। साथ ही खिचड़ी, काले तिल के लड्डू का वितरण किया जाएगा।

जगमगाएगा अयप्पा मंदिर

टाटीबंध स्थित भगवान अयप्पा मंदिर सेवा समिति के अध्यक्ष विनोद पिल्ले ने बताया कि मंदिर में सुबह चार बजे से पूजा-अर्चना शुरू होगी। 41 दिनों से व्रत कर रहे श्रद्धालु अपने सिर पर पोटली रखकर मंदिर की 18 पवित्र सीढ़ियों से चढ़कर भगवान के श्री विग्रह का दर्शन करेंगे।सीढ़ियों से केवल व्रतधारी ही चढ़ेंगे। अन्य श्रद्धालु रोजाना की तरह मंदिर के पीछे स्थित द्वार से दर्शन लाभ लेंगे। शाम 4 बजे से मंदिर परिसर में रंगोली सजाकर हजारों मिट्टी के दीप सजाए जाएंगे। शाम सात बजे दीप प्रज्ज्वलित करने की परंपरा निभाई जाएगी। मुख्य द्वार से लेकर गर्भगृह तक हजारों दीप जगमगाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *